हल्द्वानी-पढिय़े महाराष्ट्र के नये राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी का पूरा जीवन परिचय और सियासी सफर

Slider

हल्द्वानी-आज उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र का राज्यपाल बनाया गया। कोश्यारी के राज्यपाल बनने से उत्तराखंड में खुशी का माहौल है। भगत सिंह कोश्यारी का जन्म 17 अक्टूबर 1942 को अल्मोड़ा जिले में हुआ। कोश्यारी की शुरूआती शिक्षा अल्मोड़ा में हुई तथा आगरा विश्वविद्यालय से कोश्यारी ने अंग्रेजी साहित्य में आचार्य की उपाधि प्राप्त की। कोश्यारी जी का जीवन सादा हैं तथा उनकी सोच और विचार ऊंचे हैं।

Slider

हल्द्वानी-पूर्व सीएम भगत सिंह कोश्यारी बने महाराष्ट्र के राज्यपाल, अफवाहों की खबरों पर लगा विराम

भगत सिंह कोश्यारी राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ से जुड़े हुए हैं। वर्ष 1977 के आपातकाल के समय आपातकाल के विरोध करने पर कोश्यारी जेल भी गये। इसके बाद वह वर्ष 2001 के समय जब नित्यानंद स्वामी की सरकर में ऊर्जा, सिंचाई और कानून आदि का मंत्री रहे। 2001 में वे उत्तराखंड राज्य के दूसरे मुख्यमंत्री बने। वह उत्तराखंड राज्य इकाई के बीजेपी के अध्यक्ष भी रहे थे तथा वर्ष 2002 से 2007 तक विधानसभा उत्तराखंड के विपक्ष के नेता के रूप में सेवा की हैं। वर्ष 2007 में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी सत्ता में आयी।

Bhagat-Singh-Kosariyari
उस समय भगत सिंह मुख्यमंत्री के मजबूत दावेदार थे लेकिन केंद्र भाजपा ने उन्हें ना बनाकर भुवन चंद्र खंडूरी को नया मुख्यमंत्री बनाया। इसके बाद भगत सिंह कोश्यारी नैनीताल के सांसद बने। हाल में हुए लोकसभा चुनाव में उन्होंने चुनाव लडऩे से मना कर दिया। इसकी का तोहफा अब पार्टी ने उन्हें महाराष्ट्र का राज्यपाल बना के दिया है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें