iimt haldwani

हल्द्वानी- डा. विपिन चन्द्रा बने पत्रकार कल्याण कोष के सदस्य, सीएम त्रिवेन्द्र ने लगाई मुहर

227

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- वरिष्ठ पत्रकार डा. विपिन चन्द्रा को पत्रकार कल्याण कोष का सदस्य नियुक्त किया गया है। यह जानकारी उन्हें सूचना विभाग देहरादून के माध्यम से दी गई। जिसमें सूचना विभाग द्वारा एक पत्र जारी करते हुए प्रदेश के चार पत्रकारों को पत्रकार कल्याण कोष का सदस्य बनाया गया। जिसमें डा. डीवी शर्मा देवभूमि पत्रकार यूनियन देहरादून, चेतन गुरूंग उत्तराखंड पत्रकार यूनियन देहरादून, नरेश मनोचा राष्ट्रीय पत्रकार यूनियन देहरादून और डा. विपिन चन्द्रा उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन हल्द्वानी नैनीताल को जिम्मेदारी सौंपते हुए पत्रकार कल्याण कोष का सदस्य बनाया गया है। बता दें कि पत्रकार कल्याण कोष/ उत्तराखंड बयोवृद्ध पत्रकार पेंशन योजना के लिए पत्रकार संगठनों के सदस्यों को गैर सरकारी सदस्य के रूप में नामित किया गया है। यह कार्य सूचना विभाग द्वारा किया जाता है जिसके बाद इसके मुख्यमंत्री के पास भेजा जाता है। मुख्यमंत्री के आदेश के बाद ही इनकी नियुिक्त होती है।

amarpali haldwani

कुमाऊं से पहले पत्रकार कल्याण कोष के बने सदस्य

गौरतलब है कि डा. विपिन चन्द्रा इन दिनों हल्द्वानी में सहारा समय न्यूज चैनल के संवाददाता के रूप में कार्यरत है। वह लंबे समय से पत्रकारिता से जुड़े है। पत्रकार कल्याण कोष में सदस्य बनने वाले डा. चन्द्रा कुमाऊं के एक मात्र पत्रकार है। इस मौके पर पत्रकार डा. विपिन चन्द्रा ने पत्रकार कल्याण कोष का सदस्य बनाये जाने पर सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत, सूचनाा विभाग और यूनियन का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि यहां तक पहुंचने में यूनियन के प्रदेश महामंत्री प्रयाण पाण्डे और सहारा समय के कुमाऊं ब्यूरो चीफ गणेश पाठक का बड़ा सहयोग रहा। उन्होंने कहा कि वह पत्रकारों के हितो के लिए कार्य करेंगे। वह पत्रकारों की पेंशन संबंधित समस्याओं को सुलझाने का काम करेंगे। वह हर संभव पत्रकारों की मदद को तैयार है।

डा. चन्द्रा को मिल चुकी है डॉक्टरेट की उपाधि

इससे पहले सहारा समय चैनल के वरिष्ठ पत्रकार और उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के जिला अध्यक्ष डा. विपिन चंद्रा को राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने पत्रकारिता क्षेत्र में पीएचडी करने के उपरांत उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के चौथे दीक्षांत समारोह में डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया जा चुका है। वह कुमाऊं से पत्रकारिता में पीएचडी की उपाधि पाने वाले पत्रकार बने। अब उन्हें पत्रकार कल्याण कोष सदस्य बनाया गया है। डा. चन्द्रा की गिनती एक जुझारू कलमकार के रूप में होती है।