inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड हल्द्वानी-डीपीएस ने मनाया ओरिएंटेशन प्रोग्राम, अभिभावकों को दिये बच्चे के विकास के...

हल्द्वानी-डीपीएस ने मनाया ओरिएंटेशन प्रोग्राम, अभिभावकों को दिये बच्चे के विकास के टिप्स

देहरादून – प्रदेश में परवान चढ़ने लगी पिरूल से बिजली बनने की योजना, अब 25 नए प्रोजेक्ट खोलने की तैयारी

देहरादून- प्रदेश में पिरुल से बिजली बनाने की योजना अब परवान चढ़ने लगी है। उत्तराखंड रिनिवेबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी(उरेडा) की इस योजना के तहत...

रुद्रपुर: आखिर राज्यमंत्री को क्यों डाक्टर दंपति का विरोध झेलना पड़ा

रुद्रपुर। नगरीय पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष प्रकाश हर्बोला व उनकी टीम को एक निर्माणाधीन अस्पताल के निरीक्षण के दौरान डाॅक्टर दंपति के विरोध...

देहरादून- युवक ने खुद को मारी गोली, क्षेत्र में मची सनसनी

देहरादून - तिब्बती मार्केट की एक दुकान में व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस इसे हत्या और सुसाइड दोनों तरीके से...

रुद्रपुर: करोड़ों का खेल, मंत्री के जांच के आदेश से होगा अफसरों व ठेकेदार की सांठगांठ का खुलासा

फणींद्र नाथ गुप्ता रुद्रपुर। जिला पंचायत के लदान ढुलान ठेकेदार के जिला पंचायत को 2.22 करोड़ रुपए की आर्थिक क्षति पहुंचाने के प्रकरण में पंचायतीराज...

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-रामपुर रोड स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल के सभागार में अभिभावकों के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम आयोजित कर उन्हें आगामी शैक्षणिक सत्र के बारे में जानकारी दी गई। प्रधानाचार्या रंजना शाही ने अभिभावकों का गर्मजोशी से स्वागत करते हुए सूचित किया कि स्कूल को  सीबीएसई नई दिल्ली से  संबद्धता मिल गई है। उन्होंने बच्चों से किए जाने वाले व्यवहार के बारे में बताया। तथा बच्चे के समग्र विकास पर जोर दिया, जो स्कूल का मुख्य उद्देश्य और उद्देश्य है। इसके अलावा,  माता-पिता को डीपीएस के दिशा-निर्देशों के बारे में बताया और शिक्षण संबंधी तकनीकों के बारे में अवगत कराया।

बच्चों को गिफ्ट नहीं समय दें

उन्होंने कहा कि पैरेंट्स को बच्चों की लर्निंग साइकिल में शामिल होना चाहिए, उनकी डायरी और होमवर्क पर नियमित ध्यान देना चाहिए। बच्चों को अपनी रचनात्मकता को पूरी तरह विकसित करने का मौका दिया जाना चाहिए। बच्चों के नजदीक आना है तो उन्हें कीमती गिफ्ट नहीं, कीमती समय दें। उप प्रधानाचार्या रश्मि आनंद  ने कहा कि पैरेंट्स और टीचर्स मिलकर ही बच्चों के उज्जवल भविष्य के निर्माण में योगदान कर सकते हैं।


इसका उद्देश्य स्कूल के पाठ्यक्रम,  नियमों और विनियमों,  शिक्षण विधियों और सहशैक्षणिक गतिविधियों के साथ माता-पिता को  प्रगति में भागीदार के रूप में परिचित करना था। आई टी विभाग ने अभिभावकों की सुविधा के लिए ईआरपी, जीपीएस, अटेंडेंस रिकाड्र्स तथा अन्य जरूरी जानकारियां दी। कार्यक्रम बच्चों को खुश, कुशल और रचनात्मक रूप से अच्छी तरह से समायोजित नागरिकों में बढऩे के उद्देश्य से एक अच्छे नोट पर समाप्त हुआ। इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में माता-पिता शामिल हुए।

Related News

देहरादून – प्रदेश में परवान चढ़ने लगी पिरूल से बिजली बनने की योजना, अब 25 नए प्रोजेक्ट खोलने की तैयारी

देहरादून- प्रदेश में पिरुल से बिजली बनाने की योजना अब परवान चढ़ने लगी है। उत्तराखंड रिनिवेबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी(उरेडा) की इस योजना के तहत...

रुद्रपुर: आखिर राज्यमंत्री को क्यों डाक्टर दंपति का विरोध झेलना पड़ा

रुद्रपुर। नगरीय पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष प्रकाश हर्बोला व उनकी टीम को एक निर्माणाधीन अस्पताल के निरीक्षण के दौरान डाॅक्टर दंपति के विरोध...

देहरादून- युवक ने खुद को मारी गोली, क्षेत्र में मची सनसनी

देहरादून - तिब्बती मार्केट की एक दुकान में व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस इसे हत्या और सुसाइड दोनों तरीके से...

रुद्रपुर: करोड़ों का खेल, मंत्री के जांच के आदेश से होगा अफसरों व ठेकेदार की सांठगांठ का खुलासा

फणींद्र नाथ गुप्ता रुद्रपुर। जिला पंचायत के लदान ढुलान ठेकेदार के जिला पंचायत को 2.22 करोड़ रुपए की आर्थिक क्षति पहुंचाने के प्रकरण में पंचायतीराज...

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

पिथौरागढ़- भारत से पेंशन लेकर लौट रहे 5 नेपाली पेंशनरों को मिली दर्दनाक मौत, ऐसे हुआ पूरा हादसा

भारत से पेंशन लेकर जा रहे नेपाली पेंशनरों की एक जीप नेपाल में झूलाघाट से करीब सात किमी दूर सड़क से पलटकर डेढ़ सौ...