iimt haldwani

हल्द्वानी-डीपीएस ने मनाया पृथ्वी दिवस, ऐसे दी बच्चों को पर्यावरण की जानकारी

87

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- दिल्ली पब्लिक स्कूल रामपुर रोड में पृथ्वी दिवस मनाया गया। इसका उद्द्ेश्य जमीनी स्तर पर वैश्विक पर्यावरणीय चुनौतियों के समाधान में छात्रों को उनकी भूमिका के प्रति संवेदनशील बनाना था। ग्लोबल वार्मिंग से पृथ्वी को कैसे बचाया जा सकता है। इस थीम के साथ विशेष प्रार्थन सभा की गई। इस दौरान पृथ्वी संरक्षण के बारे में बच्चों को जागरूक करने के उद्देश्य से रचनात्मक गतिविधियों का आयोजन किया गया। पेड़ों को बचाने की आवश्यकता पर जोर देने के लिए बच्चों ने सेव अर्थ और गो ग्रीन जैसे ज्वलंत पर्यावरणीय मुद्दों के बारे में शानदार प्रस्तुतियां दी। छात्रों ने उत्साहपूर्वक विभिन्न गतिविधियों में भाग लिया था। प्राकृतिक संसाधन और उन्हें अपने ग्रह को और अधिक बनाने की दिशा में अपना काम करने के लिए प्रेरित करना।

amarpali haldwani

ग्लोबल वार्मिंग के प्रभाव की दी जानकारी

उप प्रधानाचार्या रश्मि आनंद ने कहा कि सूखे और भूमिगत जल की कमी के बढ़ते उदाहरण जलवायु परिवर्तन का परिणाम हैं। हमें सोचना चाहिए कि क्या हमने ग्लोबल वार्मिंग के हानिकारक प्रभावों को उलटने के लिए कुछ किया है। हमारे कार्यों को मानव जाति के अस्तित्व के लिए हमारी चिंता को प्रतिबिंबित करना चाहिए। भूजल में कमी आने पर भारत सबसे बुरी तरह प्रभावित है। बढ़ती आबादी, उद्योगों की उच्च सांद्रता और लापरवाह शहरीकरण मामले को बदतर बना रहा है। पेड़ लगाओ जितने हो सकते हो, जितनी बार तुम कर सकते हो, वर्षा जल संचयन तकनीक अपना, सौर ऊर्जा चालित उपकरणों का प्रयोग करें। अपशिष्ट प्रबंधन एक और हानिकारक लड़ाई है, जिससे भारत वर्तमान में लड़ रहा है। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पर्याप्त अपशिष्ट पृथक्करण, प्रसंस्करण और खाद सुविधाओं की कमी देश में स्वास्थ्य और स्वच्छता में गिरावट का मुख्य कारण है।

बच्चों ने बनाये पर्यावरण संबंधी पोस्टर

कूड़े को खुले में न फेंके, पड़ोस के लिए एक खाद मशीन में निवेश करें। हमें अपशिष्ट प्रबंधन जागरूकता को बढ़ावा देना। हम हर साल पृथ्वी दिवस मनाते हैं । लेकिन इस तरह के अनमोल उपहार के साथ उन्हें विवेकपूर्ण तरीके से इस्तेमाल करने, उनका संरक्षण करने और उन्हें हमारी आने वाली पीढिय़ों को सौंपने की एक बड़ी जिम्मेदारी भी आती है।आर्ट एंड क्राफ्ट विभाग की ओर से आयोजित पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता के दौरान बच्चों ने पर्यावरण संरक्षण संबंधी सुन्दर एवं प्रभावी पोस्टर बनाये।