हल्द्वानी-(डॉक्टर्स डे) पर विशेष, पढिय़े बृजलाल अस्पताल के दस साल बेमिसाल

Slider

हल्द्वानी-आज डॉक्टर्स डे के दिन ठीक दस साल पहले हल्द्वानी के सबसे ज्यादा सुविधाओं से लैस बृजलाल अस्पताल की स्थापना की गई। 1 जुलाई 2009 को स्थापित बृजलाल अस्पताल ने कई लोगों को नई जिंदगी दी। सैकड़ों परिवारों में खुशियां लौटाई। इसी विश्वास के चलते आज बृजलाल हल्द्वानी के टॉप अस्पतालों में अपनी जगह बनाये हुए है। कुमाऊं भर के लोग बड़ी-बड़ी उम्मीदें लेकर यहां मरीजों को दिखाने आते है। अस्पताल भी उनके उम्मीदों पर खरा उतरता है।

Brijlala Hostpital Haldwani

Slider

बृजलाल के चेयरमैन रमेश पाल ने जानकारी देते हुए बताया कि अस्पताल ने वर्ष 2011 में पाल कॉलेज ऑफ नर्सिंग की शुरूआत की। साथ ही एक्सीडेन्टल, ट्रामा, न्यूरो सर्जरी, ब्र्रेन ट्यूमर, वैन्टीलेटर युक्त ICU, PICU, NICU, डायलिसिस यूनिट, बर्न यूनिट, कैथ लैब यूनिट (एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी) वैस्कुलर सर्जरी, ओपन हार्ट सर्जरी एवं बाईपास सर्जरी, ब्रेकियल प्लेक्सस सर्जरी एवं पीडियाट्रिक सर्जरी 32 SIICE स्पाइरल 3D सीटी स्कैन, 3.0Tesla Platform MRI सुविधाओं के साथ सुपर स्पेशलिस्ट के रूप में स्थापित किया।

Brijlal Hospital

देश में मिला गुणवत्ता में मिला प्रमाण

उन्होंने कहा कि दस साल में बृजलाल अस्पताल ने कई ऊंचाईयों को छूंआ। वर्ष 2017 में N.A.B.H. द्वारा पूरे देश में बृजलाल को गुणवत्ता के आधार पर विशेष रूप से प्रमाणित किया गया। यह उपलब्धि पाने वाले बृजलाल अस्पताल उत्तराखंड का मात्र एक अस्पताल है जो उत्तराखंड के लिए गौरव की बात है।

PRESIDENT APPRECIATION, BRIJLAL HOSPITAL

उन्होंने बताया कि इस मुकाम पर पहुंचने के बावजूद उन्होंने थकान और गौरव का अहसास नहीं हुआ और इसके बाद वर्ष 2018 में औन्को (कैंसर सर्जरी) शुरू की। जो हमारे लिए एक बड़ी सफलता है। उन्होंने कहा कि आगे वर्ष 2021 में हमारा लक्ष्य कैंसर थैरेपी, रेडियो थैरेपी के साथ ब्लड बैंक की स्थापना करना है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें