हल्द्वानी -डीएम ने दी अधिकारियों को ये चेतावनी, क्वारंटीन सेंटर में बच्ची की मौत पर प्रदेश स्तर की सबसे बड़ी कार्यवाही

Slider

हल्द्वानी -विगत दिवस बेतालघाट के तल्लीसेठी गांव में कोरेन्टाइन सेन्टर में 5 वर्ष की बच्ची अंजलि की सांप के काटने के बाद मौत हो गई। इस पर आज जिलाधिकारी सविन बंसल ने शोक व्यक्त किया है। इस दौरान डीएम बंसल ने कहा कि बच्ची के परिजनों को वन विभाग की ओर से निर्धारित मुआवजा राशि का जल्द ही भुगतान किया जायेगी। कोरेन्टाइन सेन्टर में तैनात किये गये राजकीय कर्मचारियों की लापरवाही को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए जिलाधिकारी द्वारा संबन्धित कर्मचारी के विरूद्व देर रात एफआईआर दर्ज करने के निर्देश जारी किये थे।

haldwani news
नायब तहसीलदार बेतालघाट द्वारा थाने में मृतक बच्ची के ताऊ खीम सिंह की शिकायत पर शासकीय कार्यों में लापरवाही बरतने के आरोप में पटवारी राजपाल सिंह, ग्राम विकास अधिकारी उमेश जोशी, जीआईसी बेतालघाट के सहायक अध्यापक करन सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। एसडीएम ऋचा सिंह की रिपोर्ट पर संबन्धितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 188, 269, 270 304ए तथा आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। डीएम द्वारा इस प्रकार की गंभीर कार्यवाही प्रदेश स्तर की पहली गंभीर कार्यवाही है। जिलाधिकारी की इस कार्यवाही से जिलेभर के कर्मचारियों में हडक़ंप मच गया।

Slider

बता दें कि प्राथमिक विद्यालय तल्लीसेठी बेतालघाट के कोरेन्टाइन सेन्टर में 16 लोग कोरेन्टाइन है। इसमें महेन्द्र का परिवार भी था। इस परिवार की कोरेन्टाइन अवधि मंगलवार को पूरी हो रही थी। डीएम बंसल ने चेतावनी दी कि भविष्य में ऐसा कोई मामला सामने आया तो लापरवाह कर्मचारी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। कहा कि ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में स्थापित किये गये सभी कोरेन्टीन सेन्टर पर जिस स्टाफ की तैनाती की गई है। वहां वह आपने दायित्व पूरी तत्परता एवं निष्ठा से अनुपालन करेें, किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। लापरवाही की दशा में कड़ी से कड़ी विधिक कार्यवाही भी अमल में लाई जायेगी। उन्होंने कहा कि आपदा काल में सभी अधिकारी अपने मोबाइल 24 घंटे खुले रखें तथा आने वाली सभी कॉल को अनिवार्य रूप से अटैंड करें तथा लोगों की समस्याओं का निराकरण
करते हुए उन्हे सहयोग करें।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें