PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी-दिव्यांग समझ जिसे लोग करते रहे नजरअंदाज, वो निकला हल्द्वानी में इस धंधे का एक्सपर्ट

हल्द्वानी-बनभूलपुरा पुलिस द्वारा नशे के खिलाफ चलाये गये अभियान में एक और सफलता मिली। इससे पहले थानाध्यक्ष सुशील कुमार की नेतृत्व में क्षेत्र के नशे के कई कारोबारियों को पुलिस जेल भेज चुकी हैं। एक के बाद एक कार्रवाई से बनभूलपुरा पुलिस सुर्खियों में है। क्षेत्रीय लोगों ने भी पुलिस की तारीफ की है। थानाध्यक्ष सुशील कुमार की कार्यशैली की लोगों ने जमकर सराहना की। क्षेत्र में पुलिस संदिग्धों पर नजर बनाये हुए है। इसी का नतीजा है पिछले दो महीने के अंदर एक के बाद एक नशे के कारोबारी सलाखों के पीछे है।

taskar

3.01 ग्राम स्मैक के साथ युवक गिरफ्तार

बनभूलपुरा थानाध्यक्ष सुशील कुमार ने बताया कि कई दिनों से पुलिस के पास एक युवक के स्मैक बेचने की शिकायत आ रही थी लेकिन जैसे ही पुलिस उसे घेरती तो वह कई न कही से निकल जाता। लेकिन इस बार पुलिस ने कोई चूक नहीं की और गुरुवार की देर रात उसे रेलवे पटरी के पास दबोच लिया। पूछताछ में उसने अपना नाम मो अनस कुरैशी पुत्र मुरसलीन कुरैशी नई बस्ती वनभूलपुरा बताया। पुलिस ने उसके पास से 3.01 ग्राम स्मैक बरामद की। जो उसने 6 सफेद कागज के टुकड़ों में रखी स्मैक, एक मोबाइल और 800 की नकदी मिली। पूछे जाने पर उसने बताया कि वह बहेड़ी से स्मैक लाता है यहां आकर छोटी-छोटी पुडिय़ा बनाकर बेचता है।

So Sushil Kumar

नशे के कारोबारियों की खैर नहीं- सुशील कुमार

एसओ सुशील कुमार ने बताया कि स्मैक तस्कर को पहली बार जेल भेजा जा रहा है। वह शारीरिक रूप से कुबड़ा है उसकी रीढ़ की हड्डी निकली हुई है। जिससे लोगों को उस पर शक नहीं होता था। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में किसी भी तरह का नशा करने वाले और कराने वालों को पुलिस नहीं छोड़ेगी। सुशील कुमार ने साफ किया कि या तो नशा करन और नशे का बारोबार करना छोड़ दो या फिर जेल चलो। उन्होंने पुलिस कर्मियों से भी साफ कहा कि क्षेत्र में किसी तरह के अपराध को लापरवाही में न ले।

कोरोना पीड़ित संदिग्ध बोला डॉक्टर साहब मेरी जान बचा लो। देखिये अस्पताल में अंदर फिर क्या हुआ। मॉक ड्रिल अस्पताल की।