drishti haldwani

हल्द्वानी- ऐसे अपने कारनामों को अंजाम देता था ये दारोगा, आज विजिलेंस टीम ने एक लाख रिश्वत लेते दबोचा रंगेहाथ

129

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क- आज हल्द्वानी विजिलेंस टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी। गुलजारपुर वन चौकी में तैनात एक वन दारोगा को एक लाख की रिश्वत लेते रंगेहाथ दबोचा। सोमवार को शिकायत कर्ता फईम अहमद ने पुलिस अधीक्षक सतर्कता सेक्टर हल्द्वानी कार्यालय आकर शिकायत दर्ज कराई कि उसका व उसके साथी नियाज अली के डंपर विगत सात मार्च को बंजारी गेट रामनगर के अंदर वन विभाग की टीम ने सीज किये थे। बताया जा रहा है कि गाडिय़ां गलत सीज की गईं थीं क्योंकि हमारे अंदर जाने का पास टोकन भी था। जब वह उसे छुड़वाने के लिए रेंजर साहब से मिले तो उन्होंने वन दरोगा शैलेन्द्र चौहान से मिलने को कहा। दारोगा शैलेन्द्र चौहान ने कहा कि 02 लाख रूपये लगेंगे और गाड़ी छूट जाएगी। शिकायतकर्ता ने कहा कि इसकी रसीद मिलेगी तो कहा कि 50 हजार की रसीद मिलेगी। दोबारा मिलने पर और बार-बार अनुरोध करने पर वो 02 लाख रूपये लेकर उच्चाधिकारियों से गाड़ी छुड़वाने के लिए तैयार हुए। उसके द्वारा सीनियर अधिकारी से काम करवाने के बदले रिश्वत की मांग की जा रही है।

iimt haldwani

एक लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार

शिकायतकर्ता ने रिश्वत न देकर इसकी शिकायत सतर्कता विभाग में की। शिकायत को गंभीरता से लेते हुए विजिलेंस टीम ने सतर्कता दिखाई। इस शिकायत की जांच करने पर तथ्य सही पाए जाने के बाद निरीक्षक राम सिंह मेहता के नेतृत्व में एक ट्रैप टीम का गठन किया गया जिसने आज शैलेन्द्र चौहान पुत्र भारत सिंह, निवासी पट्टी चौहान, जसपुर, जिला ऊधमसिंह नगर तैनाती गुलज़ाारपुर वन चौकी, तराई पश्चिमी वन प्रभागए रामनगर को रंगे हाथों रिश्वत लेते पकड़ लिया। एक लाख रूपये रिश्वत के साथ रामनगर भवानी गंज चौराहे से उसे गिरफ्तार किया है। निदेशक सतर्कता ने टीम के उत्साहवर्धन हेतु नगद पुरस्कार की घोषणा की है।