हल्द्वानी- श्रमिकों की हक की लड़ाई में आगे आये कांग्रेस नेता नारायण पाल, उत्तरांखड सरकार पर लगायें ये आरोप

Slider

रुद्रपुर, सितारगंज और नैनीताल में स्थापित औद्योगिक इकाईयों में लॉक डाउन के दौरान श्रमिकों के शोषण के खिलाफ सितारगंज के पूर्व विधायक और कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष नारायण पाल ने श्रम आयुक्त कार्यालय के बाहर धरना दिया। नारायण पाल ने कहा कि जिस तरह केंद्र और राज्य सरकार श्रमिक हितों की बड़ी-बड़ी बातें कर रही है।

haldwani narayan pal protest news

Slider

उसका कोई असर औद्योगिक इकाइयों पर नहीं पड़ रहा है, राज्य में उधम सिंह नगर और नैनीताल जिले में स्थापित औद्योगिक इकाइयों ने श्रमिकों का जमकर शोषण किया है लॉक डाउन के दौरान न तो उन्हें रोजगार मिल रहा है और ना ही पुराना वेतन दिया गया है, ऐसे में वर्तमान राज्य सरकार श्रमिक हितों में कुठाराघात करने में लगी है।

श्रमिकों के हित के लिए जाएंगे कोर्ट

त्रिवेन्द्र सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि पहले श्रमिकों के उपर रोजगार और वेतन का संकट था, लेकिन अब 12 घंटे कार्य का समय बढ़ाकर सरकार श्रमिकों का शोषण करने का कार्य कर रही है। जिसके विरोध में आज वो धरने पर बैठे हैं, इतना ही नहीं सरकार के इस फैसले के खिलाफ और श्रमिकों के हित की लड़ाई लड़ते हुए वे इस फैसले को वापस लिये जाने को लेकर कोर्ट भी जाएंगे।

haldwani narayan pal protest news

इधर मामले में श्रमविभाग के उपनिदेशक विपिन कुरील की माने तो लॉकडाउन के दौरान मिलने वाली श्रमिकों की शिकायतों के खिलाफ जांच करके लगातार कार्यवाई की जारी है। इतना ही नहीं विभाग द्वारा श्रमिकों की सहायता के लिए जिले में जगह-जगह कैंप भी बनायें है।

यहाँ भी पढ़े

लालकुआं- अब बेंगलुरु में फंसे प्रवासी लाये जाएंगे उत्तराखंड, जल्द लालकुआं स्टेशन पहुंचेगी स्पेशल ट्रेन

देहरादून-विधायक की पत्नी और बेटे से मारपीट, इस बात को लेकर अस्पताल में हुआ हंगामा

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें