inspace haldwani
Home उत्तराखंड कुमाऊँ हल्द्वानी-शहर की ये चिटफंड कंपनी लाखों लेकर फरार, पढिय़े कही आपने तो...

हल्द्वानी-शहर की ये चिटफंड कंपनी लाखों लेकर फरार, पढिय़े कही आपने तो नहीं लगाया था पैसा

रुद्रपुर: एवज़ी में पिता की ड्यूटी करने गया था जवान बेटा, लौटा तो कफ़न में लिपट कर, हर आंख हो गई नम

रुद्रपुर । पिता परिवहन विभाग मुरादाबाद में थे, उन्हें चोट लगी तो जवान बेटा एवज़ी में पिता की ड्यूटी करने चला गया, लेकिन जब...

रुद्रपुर: जिला पंचायत बोर्ड की बैठक 31को, सांसद अजय भट्ट करेंगे शिरकत

रुद्रपुर । सांसद अजय भट्ट 31 अक्तूबर को जिला पंचायत बोर्ड की बैठक में प्रतिभाग करेंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष रेनू गंगवार ने बोर्ड की बैठक...

दिनेशपुर: बीएड फाइनल की छात्रा को फांसी पर लटका देखा तो परिजनों की निकली चीख

दिनेशपुर। थाना क्षेत्र के ग्राम चक्की मोड़ निवासी एक युवती ने फांसी लगा ली, जिससे उसकी मौत हो गई । युवती बीएड की छात्रा थी...

रुद्रपुर: बेदाग छवि के त्रिवेंद्र सिंह रावत हर अग्नि परीक्षा में उतारेंगे खरे: शिव अरोरा

रुद्रपुर। भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत पर भ्रष्टाचार के आरोप बेबुनियाद और झूठे हैं। जिलाध्यक्ष शिव अरोरा बृहस्पतिवार को पत्रकारों...

केलाखेड़ा: इस कारण खुले आसमान के नीचे पड़ा है किसानों का सैकड़ों कुंतल धान

केलाखेड़ा। नगर समीपवर्ती ग्राम रामनगर में किसान सहकारी समिति के तौल केंद्र पर धान की खरीद बंद है, जिससे किसान और पल्लेदार परेशान हो...

हल्द्वानी-चिटफंड कंपनियों का भागने का सिलसिला जारी है। कई कंपनियां पहाड़ों से करोड़ों लेकर चपत हो गई है। जिसमें लोगों के लाखों रुपये डूब गये। वहीं शहर से भी अब इन चिटफंड कंपनियों ने अपना बोरियां-बिस्तरा बांधना शुरू कर दिया है। हल्द्वानी स्थित एक कंपनी 23 लाख रुपये लेकर फरार हो गया। ब्लॉक चौराहे के पास संचालित चिटफंड कंपनी का संचालक लोगों के 23 लाख रुपये लेकर चंपत हो गया। कंपनी के स्थानीय प्रबंधक ने इस मामले में मुखानी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस आरोपों की छानबीन कर रही है।

इस कंपनी के प्रबंधक गुरु प्रकाश सिंह ने पुलिस को बताया कि 10 साल पहले कैमुना क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड के नाम से ब्लॉक चौराहे पर कंपनी खोली गई थी। एटा जिले का अलीगंज निवासी प्रदीप कुमार अस्थाना सीएमडी के तौर पर काम करता था। सीएमडी ने कंपनी की एफडी, आरडी योजना के बारे में बताया था। समय सीमा पूरा होने पर कुछ खाताधारकों के पैसे वापस भी दिए गए लेकिन 2019 से धनराशि मिलना बंद हो गई। कंपनी को 23 लाख रुपये देना था। दर्जनों खाताधारक समय सीमा पूरा होने पर कंपनी से जुड़े लोगों के घर के चक्कर लगा रहे थे। सीएमडी कर्मचारियों को बगैर बताए पैसे लेकर फरार हो गया। मुखानी थानाध्यक्ष भगवान सिंह महर ने बताया कि शिकायत के आधार पर धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

 

Related News

रुद्रपुर: एवज़ी में पिता की ड्यूटी करने गया था जवान बेटा, लौटा तो कफ़न में लिपट कर, हर आंख हो गई नम

रुद्रपुर । पिता परिवहन विभाग मुरादाबाद में थे, उन्हें चोट लगी तो जवान बेटा एवज़ी में पिता की ड्यूटी करने चला गया, लेकिन जब...

रुद्रपुर: जिला पंचायत बोर्ड की बैठक 31को, सांसद अजय भट्ट करेंगे शिरकत

रुद्रपुर । सांसद अजय भट्ट 31 अक्तूबर को जिला पंचायत बोर्ड की बैठक में प्रतिभाग करेंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष रेनू गंगवार ने बोर्ड की बैठक...

दिनेशपुर: बीएड फाइनल की छात्रा को फांसी पर लटका देखा तो परिजनों की निकली चीख

दिनेशपुर। थाना क्षेत्र के ग्राम चक्की मोड़ निवासी एक युवती ने फांसी लगा ली, जिससे उसकी मौत हो गई । युवती बीएड की छात्रा थी...

रुद्रपुर: बेदाग छवि के त्रिवेंद्र सिंह रावत हर अग्नि परीक्षा में उतारेंगे खरे: शिव अरोरा

रुद्रपुर। भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत पर भ्रष्टाचार के आरोप बेबुनियाद और झूठे हैं। जिलाध्यक्ष शिव अरोरा बृहस्पतिवार को पत्रकारों...

केलाखेड़ा: इस कारण खुले आसमान के नीचे पड़ा है किसानों का सैकड़ों कुंतल धान

केलाखेड़ा। नगर समीपवर्ती ग्राम रामनगर में किसान सहकारी समिति के तौल केंद्र पर धान की खरीद बंद है, जिससे किसान और पल्लेदार परेशान हो...

रुद्रपुर: डीपीएस की मुस्कान ने इस तरह कर दिया नाम रोशन

रुद्रपुर। दिल्ली पब्लिक स्कूल की छात्रा मुस्कान का चयन क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखण्ड में अंडर 23 महिला क्रिकेट टीम में हुआ है। जिससे दिल्ली पब्लिक...