inspace haldwani
Home उत्तराखंड हल्द्वानी-फिर छाया सुर सम्राट गोपाल बाबू का 80 के दशक का गीत,...

हल्द्वानी-फिर छाया सुर सम्राट गोपाल बाबू का 80 के दशक का गीत, सोशल मीडिया में हुआ वायरल

Uttarakhand Songs- (जीवन राज)- उत्तराखंड के सुर सम्राट स्व. गोपाल बाबू गोस्वामी जी के वर्ष 1982-83 के दशक का गीत इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। 80 के दशक के इस गीत ने फिर से रफ्तार पकड़ ली है। गीत के के बोल है बाज मुरूली बाज हुडूका हाई रे घमा घम। इस गीत में अपनी मधुर आवाज दी है सुर सम्राट स्व. गोपाल बाबू गोस्वामी के सुपुत्र सुपरस्टार लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी ने। इससे पहले वह गोपुली जैसा सुपरहिट गीत लोगों को दे चुके हैं। यह गीत उनके चैनल आरबीजी (गोपाल बाबू गोस्वामी) से रिलीज हुआ है।

 

बाज मुरूली बाज हुडूका के दीवाने हुए लोग

रमेश बाबू के सुरीली आवाज में सजे इस गीत की प्रदेशभर में लोगों ने जमकर सराहना की। बता दें कि वर्ष 1982-83 के दशक में सुर सम्राट स्व. गोपाल बाबू गोस्वामी के इस गीत लोग दीवाने थे। स्व. गोपाल बाबू द्वारा लिखा गया यह गीत उस समय के सुपरहिट गीतों में से एक था। आज उनके पुत्र लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी ने इस गीत को नये अंदाज में गाकर दर्शकों के बीच रखा है। इसके अंतरे रमेश बाबू गोस्वामी ने लिखे है। इससे पहले इस गीत का प्रोमो जारी हुआ था, अब गीत रिलीज हो चुका है। जो आजकल शादी-पार्टियों में खूब सुनने को मिल रहा है।

पिता के पदचिन्हों पर चल रहे रमेश बाबू

इससे पहले गोपुली गीत ने उन्हें उत्तराखंड के संगीत जगत में एक बड़ी पहचान दिलाई। लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी ने बताया कि अपने पिता के लिखे हुए गीतों को गाना उनके लिए गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि आज के दौर में भी उनके पिता के गीतों का क्रेज कम नहीं हुआ है। ऐसे में दर्शक उनसे बार-बार उनके पिता के गीतों को गाने की मांग करते है। दर्शकों की मांग को ध्यान में रखते हुए उन्होंने अब अपने पिता सुर सम्राट स्व. गोपाल बाबू के 80 के गीत को एक नये अंदाज में दर्शकों के बीच रखा है। जिससे युवाओं ने खूब पसंद किया है। इन दिनों टिक-टॉक समेत कई सोशल मीडिया साइटों पर यह गीत वायरल हो रहा है। अपने गीतों के माध्यम से रमेश बाबू अपने पिता के पदचिन्हों पर चल रहे।

Related News

उत्तराखंड- इस दिन दोबारा होगी फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा, शासन ने जारी किये आदेश

चर्चित फॉरेस्ट गार्ड भर्ती प्रक्रिया को लेकर उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है। सूचना के मुताबिक जिन 7 परीक्षा...

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री बेहड़ अब किच्छा से लड़ेंगे चुनाव, ऐलान से सरगर्मियां शुरू

रुद्रपुर। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तिलकराज बेहड़ अब किच्छा विधान सभा से चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने किच्छा में कार्यकर्ताओं के बीच अपनी मंशा जाहिर कर दी...

देहरादून- स्पा सेंटरों के खिलाफ ऐक्शन में उत्तराखंड पुलिस, जारी किये ये निर्देश

देहरादून में इन दिनों स्पा सेंटरों का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। बाहर से दिखने में ये स्पा सेंटर, मसाज सेंटर आदि प्रतीत होते...

देहरादून- उत्तराखंड पहुंची कोरोना वैक्सीन की दूसरी खेप, इतनो को लग सकेगा टीका

केन्द्र सरकार से उत्तराखण्ड को कोविड-19 के टीकाकरण के लिए कोविशिल्ड वैक्सीन की 92,500 डोज उपलब्ध कराई है। यह वैक्सीन बुधवार को देहरादून एयरपोर्ट...

देहरादून- सचिवालय में कार्यरत होमगार्डों को सीएम त्रिवेन्द्र का तोहफा, प्रदेश के कई कार्यों को दी अनुमति

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में कार्यरत 309 होमगार्डस को 25-04-2017 से 02-07-2018 तक के अवशेष ड्यूटी भत्ते के एरियर भुगतान के लिए...

देहरादून- हरीश रावत से ये क्या बोल गए वन मंत्री हरक सिंह रावत, जाने क्यों हरदा को कहा झूटा

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चेहरा घोषित करने के बाद कांग्रेस में...