iimt haldwani

हल्द्वानी-बसपा ने नवनीत को टिकट देकर बनाई राह आसान, अन्य प्रत्याशियों पर ऐसे पड़ सकते है भारी

229

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- बसपा ने पहले राजेश दुबे को अपना प्रत्याशी बनाया था लेकिन अंतिम समय में बसपा ने अपना प्रत्याशी बदल लिया। जिसके बाद बसपा ने नवनीत अग्रवाल को अपना प्रत्याशी बनाया। इससे सियासी हलचल तेज हो गई। अग्रवाल को उनकी स्वच्छ छवि का फायदा मिला। इससे पहले नवनीत अग्रवाल बरेली नगर निगम से मेयर पद के उम्मीदवार भी रहे है। वह मूलरूप से बरेली के रहने वाले है। उनके पिता का नाम स्व.ओम प्रकाश अग्रवाल है। अग्रवाल रियल स्टेट और होटल कारोबारी है। नैनीताल लोकसभा में नए चेहरे नवनीत बरेली की सियासत में सक्रिय होने के साथ ही बसपा की बरेली मंडल में वैश्य भाईचारा कमेटी के मंडल कोऑर्डिनेटर हैं। बसपा इस सीट को लेकर बेहद संजीदा है।

drishti haldwani

अग्रवाल में हर परिस्थिति से लडऩे की क्षमता

बता दें कि नवनीत अग्रवाल प्रदेश में बसपा की राजनीति के एक नए चेहरे में रूप में बरेली में पार्टी में सक्रिय हैं। वह वर्ष 2017 में बरेली में आम आदमी पार्टी से चुनाव लडऩे वाले और रियल स्टेट और होटल कारोबारी नवनीत बीते साल ही बसपा में शामिल हुए थे। इसके बाद पार्टी ने उन्हें वैश्य कमेटी का मंडल कोऑर्डिनेटर बनाया था। नवनीत आईआईटी रुडक़ी से बीई और आईआईएम कोलकाता से ईपीबीएम कर चुके है। उन्होंने बरेली से सीधा नैनीताल लोकसभा की राजनीति में बसपा ने पदार्पण किया है। नवनीत का खुद पर विश्वास उन्हें कठिन परिस्थितियों में बचाता है। नवनीत में नई अवधारणा को आमंत्रित करने और विकसित करने की क्षमता है। वह अपने कुशल व्यवहार से सभी की पसंद बने है। नवनीत बसपा के लिए तरूप का इक्का साबित हो सकते है। नवनीत के आने से बसपा को मजबूती मिलेंगी जो बसपा के लिए उत्तराखंड में भविष्य के लिए अच्छा संकेत है।