iimt haldwani

हल्द्वानी- भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश का बड़ा बयान, बरेली और मुरादाबाद में भी होता पाकिस्तान

249

हल्द्वानी-भाजपा के जन जागरण अभियान में जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35 ए हटाए जाने पर आज राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश हल्द्वानी पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने अभियान को संबोधित करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर का पुराना इतिहास भारतीय परंपरा का रहा है। महाराजा रणजीत सिंह, महाराजा हरि सिंह, महाराजा गुलाब सिंह और महाराजा करण सिंह का इतिहास लोकतांत्रिक पद्धति से शासन करते रहे। उन्होंने कहा कि वर्ष 1931 और वर्ष1932 में जब देश में स्वतंत्रता आंदोलन चल रहा था उस दौरान महाराजा हरि सिंह ने भी अपने राज्य के नागरिकों को स्वतंत्रता आंदोलन के लिए प्रेरित करते थे। इसलिए अंग्रेजों ने महाराजा हरि सिंह के खिलाफ भी षड्यंत्र रचना शुरू किया।

drishti haldwani

prakash
राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश ने कहा कि उस समय भारत में 565 रियासतें थी यह सभी रियासतें अंग्रेजों के अधीन भी थी लेकिन खुद में स्वतंत्र भी थी। आजादी के समय अंग्रेजों के पास जो शासन था यानी ब्रिटिश इंडिया जो था उस समय जो एक व्यवस्था लॉर्ड माउंटबेटन के समय बनी थी उस समय यह व्यवस्था थी की सभी रियासतें अपने-अपने स्वतंत्रता के लिए स्वतंत्र थी ब्रिटिश पार्लियामेंट में भी यह प्रस्ताव आया था। आप भारत के साथ रहना चाहते हैं या पाकिस्तान के और वहां की रियासत के राजाओं ने अपने मंत्रिमंडल के साथ इस बात को निर्णय करना था। अगर राजा और मंत्री मंडल ही इसको निर्णय लेना था अगर जनता निर्णय लेने का प्रावधान होता तो उस समय मुरादाबाद में भी एक पाकिस्तान होता, बरेली में भी एक पाकिस्तान होता है। इस मौके पर सांसद अजय भट्ट, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, पूर्व सांसद बची सिंह रावत व मेयर जोगेन्द्र रौतेला मौजूद थे।