हल्द्वानी-जानिये कैसा है भाजपा के अजय भट्ट का राजनीतिक करियर, कितनी मजबूत है उनकी दावेदारी

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क-भाजपा ने नैनीताल सीट से अपने प्रदेशध्यक्ष अजय भट्ट को उम्मीदवार बनाया है। भट्ट के उम्मीदवार तय होने पर चुनावी मुकाबला दिलचस्प होने की उम्मीद है। गौरतलब है कि अजय भट्ट वर्ष 1996 में अविभाजित उत्तर प्रदेश से अब तक वर्ष 2002 व 2012 में तीन बार विधायक, भाजपा सरकार में काबीना मंत्री व अन्य अहम जिम्मेदारियां पर रहे है। संगठन में पकड़, कार्यकर्ताओं के बीच पैठ, वर्तमान में प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी निभा रहे है। उन्हें विधानसभा चुनाव 2014 हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले वर्ष 2012 के रानीखेत विधानसभा क्षेत्र से अजय भट्ट ने कांग्रेस के करन माहरा को हराया था, लेकिन यहां बात यह ध्‍यान देने वाली है कि करण माहरा 2007 में अजय भट्ट को इसी सीट से चुनाव हरा चुके है।

यह भी पढ़ें- भाजपा को 2 से 180 सीट तक पहुंचाने वाले लालकृष्ण आडवाणी की ऐसे हुई विदाई, कुछ ऐसा रहा राजनीतिक सफर

यह भी पढ़ें- देहरादून- भाजपा के इन दो प्रत्याशियों ने भरा नामांकन, मुख्यमंत्री रावत भी रहे मौजूद

एक ही रट्ट अजय भट्ट…अजय भट्ट

अजय भट्ट को 2009 से 2011 तक उत्तराखण्ड सरकार में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य सलाहकार एवं अनुश्रवण परिषद् के अध्यक्ष पद पर नामित किया जा चुका है। वह उत्तराखंड के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री भी रह चुके है। अजय भट्ट मुरली मनोहर जोशी के नेतृत्व में उत्तरांचल राज्य प्रगति के लिए अल्मोड़ा में गिरफ्तारी दे चुके है। वर्ष 1996 से 2000 तक भट्ट को रानीखेत का विधायक चुना गया। इसके बाद साल 2002 से 2007 तक वह दोबारा रानीखेत के विधायक निर्वाचित हुए। अजय भट्ट का एक नारा है एक ही रट्ट अजय भट्ट…अजय भट्ट।