iimt haldwani

हल्द्वानी-(बड़ी खबर) सरकार ने तय किया स्कूल बैग का वजन, कक्षा 1 से 10 तक अब इतने किलोग्राम का हुआ स्कूली बस्ता

87

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-मद्रास की तर्ज में उत्तराखंड में भी स्कूलों में बस्ते और होम वर्क का कार्य तय कर दिया गया है। यह आदेश सचिव आर मीनाक्षी सुन्दरम ने जारी किया है। इसकी प्रति अनु सचिव मानव संसाधन विकास मंत्रालय, स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग नई दिल्ली, उत्तराखंड के सभी जिलाधिकारी और प्रदेश के सभी मुख्य शिक्षा अधिकारियों को भेजी है। आदेश में कहा है कि एक से लेकर कक्षा 10 तक के बच्चों का होमवर्क और बैग का भार तय किया गया है। आदेश में साफ लिखा है कि उल्लंघन पर स्कूल का लाइसेंस निरस्त कर दिया जायेगा। बता दें कि इससे पहले मद्रास हाईकोर्ट ने केंद्र और राज्यों को निर्देश दिया कि वे सीबीएसई सहित देश भर के स्कूलों में कक्षा एक और दो के छात्रों के होमवर्क पर प्रतिबंध लगाए। कोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया है कि वे सभी राज्य सरकारों को अविलंब यह बताए कि एनसीईआरटी के अनुरूप कक्षा एक और दो के छात्रों को भाषा और गणित तथा तीसरी से पांचवीं कक्षा के छात्रों को भाषा, ईवीएस और गणित के अलावा कोई अन्य विषय नहीं पढाएं।

amarpali haldwani

यह भी पढ़ें- दिन में तीन रूप बदलती हैं ये देवी, इस पवित्र नदीं के तट पर बसा है चमत्कारिक मंदिर, वजह है ये खास

यह भी पढ़ें- Ramzan : खजूर से ही क्यों खोला जाता है रोजा, जाने इसके पीछे की वजह

देहरादून-कार लेकर शादी में गये थे चार लोग, अगले दिन इस हाल में मिली चारों की लाशें

एक दिन का टाइम टेबल भी हुआ तय

अब यह नियम उत्तराखंड के स्कूलों पर लागू हो चुका है। बच्चों के बस्ते का बोझ कम करने के लिए सारणी तय कर दी है। स्कूलों में सीबीएसई द्वारा लागू एनसीईआरटी की किताबें ही खरीदने को कहा है। इसके अलावा कक्षा एक और कक्षा दो में कोई गृह कार्य नहीं दिया जाय। कक्षा तीन से दो घंटे हर सप्ताह गृहकार्य दिया जाय। बच्चों को अतिरिक्त गृहकार्य न दिया य, कक्षा एक और दो के छात्रों को भाषा और गणित तथा कक्षा तीन से पांच के छात्रों को भाषा, पर्यावरण विज्ञान और गणित के अलावा कोई अन्य विषय नहीं पढ़ाया जाय। स्कूल में एक दिन में केवल दो या तीन विषय एवं दूसरे दिन अन्य दो या तीन विषय पढ़ाये जाय।

ये रहा कक्षावार बैग का भार-

कक्षा एक व दो के लिए 1.5 किग्रा तक
कक्षा तीन से पांच के लिए 2 से 3 किग्रा तक
कक्षा छह से आठ के लिए 4 किग्रा तक
कक्षा आठ से नौ के लिए 4.5 किग्रा तक
कक्षा 10 के बच्चों के लिए 5 किग्रा तक

सचल दल गठन को कहा

इसके अलावा स्कूलों के निरीक्षण के लिए सचल दल का गठन करने को कहा है। जिससे पता चले सके कि कक्षा 1 व 2 में कोई गृह कार्य न दिया जाय तथा दोनों कक्षाओं में भाषा व गणित के अतिरिक्त अन्य कोई विषय न पढ़ाया जाय। बैग का भार निधार्रित सीमा से अधिक न हो। आदेश में साफ कहा है कि जो स्कूल कक्षा 1 व 2 मं गृहकार्य दे रहे है या अतिरिक्त विषय पढ़ा रहे है उनकी पंजीकरण निरस्त कर दिया जाय।