iimt haldwani

हल्द्वानी- भीमताल के होटल में दो भाइयों पर जानलेवा हमला, होटल मालिक समेत कई पर मारपीट का आरोप

2824

हल्द्वानी-विगत 8 जून को भीमताल के एक होटल में दो सगे भाइयों के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। मारपीट में घायल दोनों भाई अस्पताल में भर्ती है। दोनों भाई मुनस्यारी के रहने वाले है हाल में हल्द्वानी में रहते है। दोनों भाईयों को आरोप है कि होटल मालिक और कर्मचारियों ने उनपर जानलेवा हमला किया। इस दौरान वह हमले में घायल हो गये। जिसके बाद दोनों जान बचाकर हल्द्वानी को आ गये। इसकी शिकायत उन्होंने पुलिस से भी की लेकिन पुलिस ने बाहरी जांच कर उन्हें टरका दिया। दोनों भाइयों का आरोप है कि उनके ऊपर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग भी किया गया। उन्होंने इस मामले कार्रवाई की मांग की है।

drishti haldwani

दोनों भाईयों को बेरहमी से पीटा

पिता पांगती ने बताया कि उनके बेटे सोमित पांगती और दिवेश पांगती मुनस्यारी से हल्द्वानी को आ रहे थे। इस दौरान रास्ते में उन्हें उनके दोस्त सौरभ जो भीमताल में रहता है। उसने कहा कि उसकी बहन की शादी है तुम्हे आना है। जिसके बाद दोनों भीमताल उतर गये। इस दौरान उसने बताया कि मेहमानों के रुकने के लिए होटल बुक किया है। वहां जाकर ठहर जाओ। दोनों भाई होटल में चले गये। इस बीच उसके दोस्त का फोन आया कि मैं भी होटल आ रहा हूं जिसके बाद दिवेश उसे लेने होटल के नीचे चले गये। इस दौरान रिस्पेशन पर बैठे कर्मचारी खीम सिंह से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। इस बीच होटल स्वामी कुन्दन सिंह भी वहां पहुंच गया उसने दिवेश के पीटना शुरू कर दिया। और एक अन्य व्यक्ति भी पहुंच गया तीनों उसे पीटने लगे।

जाति सूचक शब्दों के प्रयोग का आरोप

इस बीच बाहर हो-हल्ला सुनकर सोमित कमरे से बाहर आया तो देखा की तीनों उसके भाई को पीट रहे है। सोमित ने बीच-बचाव कर सबको अलग किया। इसके बाद उन्होंने पुलिस को बुलाने की बात कही। तो दोनों होटल के बाहर रूक गये काफी देर तक पुलिस नहीं आयी तो जैसे ही दोनों भाई हल्द्वानी को वापस आ रहे थे इतने में चार बाइक सवार युवक आये और दोनों भाई को पीटना शुरू कर दिया। सभी ने मिलकर लाठी-डंडों से दोनों भाईयों को जमकर पीट दिया। इस दौरान एक भाई का सिर फट गया और खून बहने लगा दूसरे मुंह से खून बहने लगा उसके दो दांत तोड़ दिये और जमकर पीट दिया। इतने में होटल स्वामी का बेटा अपनी जीप से वहां पहुंच गया। उसने फायर झोंक दिया गनीमत रही की दोनों भाई बच गये। इस दौरान उन्हें पीटने वाले करीब 8 लोग थे।

पिता ने की कार्रवाई की मांग

पांगती ने बताया कि कि हम लोग मुनस्यारी थे तो हमें घटना की जानकारी नहीं मिली। अगले ने मेरे भाई ने फोन कर मुझे जानकारी दी तो मैं हल्द्वानी को आ गया। इस बीच मैनें भवाली में रिपोर्ट लिखाने की कोशिश की लेकिन रिपोर्ट दर्ज नहीं हो पायी और मामले की जांच कर रहे कह मुझे टरका दिया गया। इसके बाद मैं हल्द्वानी आया। दोनों बेटे ने हल्द्वानी में एक अस्पताल में अपना उपचार कराया। पांगती ने बताया कि आरोपी मारपीट के दौरान सीसीटीवी फुटेज हटाने की बात कह रहे थे। और जाति सूचक शब्दों का प्रयोग कर उन्हें पीट रहे थे। उन्होंने कहा कि मेरे बेटों को बेरहमी से पीटा गया है होटल मालिक और उसके साथियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। सोमित स्मार्टिविटी में मुख्य तकनीकी अधिकारी (सीटीओ) के रूप में काम करता है, जबकि दिवेश भारतीय सुदूर संवेदन संस्थान देहरादून में जेआरएफ है।