drishti haldwani

हल्द्वानी-सूखे नशे ने ऐसे ले ली भरी बारात में युवक की जान, हल्द्वानी से लेकर डीडीहाट तक सहमे लोग

269

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: नगर में बड़ते नशे का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिसकी लत का शिकार होकर युवा अपनी जान से हाथ धो रहे है। मुखानी थाना क्षेत्र के प्रेमपुर लोशज्ञानी में ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है। यहां डीडीहाट निवासी एक युवक की नशे की ओवर के कारण ब्रेन हैंबरेज होने से मौत हो गई। पुलिस जानकारी मुताबिक 27 वर्षीय मनोज राम पुत्र शंकर राम मूल निवासी डीडीहाट मुखानी के प्रेमपुर लोशज्ञानी गांव में एक किराये के मकान में रहता था। जो लांलकुआं स्थित एक निजी कंपनी में काम करता था। पुलिस जानकरी अनुसार युवक की लाश आज सुबह उसके घर के पास एक खेत में पड़ी मिली। जिसकी जानकारी पुलिस को आस-पास रह रहे लोगो ने दी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पीएम रिपोर्ट के मुताबिक युवक की मौत ज्यादा नशे करने के कारण हुए ब्रेन हैंबरेज की वजह से हुई।

iimt haldwani

शादी समारोह में होने गया था शामिल

पुलिस जानकारी मुताबिक मनोज जिस गांव में किराये पर कमरा लेके रहता था। वही आस-पास उसके काफी रिस्तेदारों के भी घर है। मनोद बुधवार को रात दस बजे अपने कमरे में पास में हो रही एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गया था। पुलिस पूछताछ में पड़ोसियों ने बताया कि देर रात तक वह इधर-उधर ही टहलता नजर आ रहा था।

फिर सुबह शादी निपटने के बाद जब खेत की सफाई की गई तो मनोज वही मृतक पड़ा मिला। जिसके बाद मामले में पुलिस को जानकारी दी गई। वही मौके पर मौजूद मनोज के पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि वह सूखे नशों की आदत का शिकार था। जिसके चलते उसकी जान गई है। मामले में मृतक के परिजनों को भी पुलिस द्वारा जानकारी दे दी गई है।

युवा लगातार हो रहे शिकार

बता दें कि नगर में नशे के कारोबारी दिन प्रति दिन बड़ते जा रहे है। हालाकिं पुलिस द्वारा इन कारोबारियों की पकड़ के लिए आये दिन छापेमारी कर कईयों को हवालात का रास्ता भी दिखाया जा चुका है। लेकिन बावजूद इसके इन मौत के सामान के करोबारियों पर पूरी तरह नकेल कस पाना पुलिस के लिए चुनौती बनता जा रहा है। जिसका भुगतान इनके सप्लाई करे जाने वाले नशे का शिकार होकर मरने वाले युवाओं के परिजनों को करना पड़ता है। जिसके बाद भी इनके धंधे में कोई असर नहीं पड़ता। ये कारोबारी धड़ल्ले से युवाओं को मौत की पुड़िया बेचकर अपना धंधा चला रहे है।