drishti haldwani

हल्द्वानी-बाबा नीम किरौली के दर्शनों को उमड़ा भक्तों का सैलाब, सांसद भट्ट ने किया मेले का शुभारम्भ

308

हल्द्वानी- आज बाबा नीम किरौली कैंची धाम में लाखों की संख्या में देश-विदेश से आए श्रद्धालुओं ने बाबा के सम्मान में अपनी श्रद्धा एवं आस्था व्यक्त की तथा पूरे सम्मान के साथ मालपुएं का प्रसाद भी ग्रहण किया। कैंची धाम में एक विशाल मेले का भी आयोजन किया गया। मेले का शुभारंभ सांसद अजय भट्ट द्वारा किया गया। इस मौके पर उनके साथ उनकी धर्म पत्नी पुष्पा भट्ट, पीआरओ दिनेश पन्तोला, दीवान मेहरा, विजय फुटेला आदि मौजूद थे। उन्होंने कहा कि बाबा नीम करौली महाराज आलौकिक सिद्धियों के स्वामी थे। बाबा की महिमा अरम्पार है। मानव समाज के उत्थान के लिए योगी संतों का समय-समय पर इस वसुंधरा में पदार्पण होता रहा है। इसी भूमि पर कामना करके सन्तों ने संसार में ज्ञान का जो प्रकाश फैलाया उसकी महत्ता समूचा विश्व जानता है। उन्होंने कहा कि देव भूमि उत्तराखण्ड की धरती में स्थित कैंची धाम विराट स्वरूप के धनी विश्व प्रसिद्ध सन्त नीम करौली महाराज की अमूल्य धरोहर है। जिनकी उपमा संतो में अतुलनीय है। हिमालय की गोद में बसा उत्तराखण्ड का यह क्षेत्र प्रकृति की अमूल्य आलौकिक धरोहर है।

iimt haldwani

यहां आकर मिलती है मानसिक शांति- सुमन

इस अवसर पर जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन ने कहा कि कैंची धाम आकर जो मानसिक शांति मिलती है, वह आलौकिक है। उन्होंने कहा कि यह उत्तराखण्ड का ऐसा तीर्थ स्थल है, जहां वर्ष भर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। अपार संख्या में श्रद्धालु एवं भक्तजन यहां पहुॅचकर आराधना व श्रद्धा के पुष्प श्री नीम करौली महाराज के चरणों में अर्पित करते हैं। हर साल 15 जून को यहां एक विशाल मेले का आयोजन होता है। उन्होंने कहा कि जनपद नैनीताल की सौन्दर्यशाली वादियों में स्थित कैंची धाम का मन्दिर समस्त उत्तराखण्ड सहित देश-विदेश के तमाम श्रद्धालुओं की आवस्था का केन्द्र है।

उन्होंने कहा कि बाबा सबकी मनोकामनाएं पूरी करें यही कामना है। मेले की सुरक्षा व्यवस्था वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा की निगरानी में काफी चुस्त एवं दुरस्त रही। सुबह से ही पुलिस महकमे के कर्मचारी एवं अधिकारी पूरी मुस्तैदी के साथ व्यवस्थाओं में लगे रहे। इस अवसर पर दीवान मेहरा, प्रकाश आर्य, मुकेश गुरुरानी, सुनील कुमार, जुगल किशोर मठपाल, नीमा बिष्ट, मोहन सिंह बिष्ट, हेमन्त लोवेशाली, नंद किशोर पाण्डे आदि मौजूद थे।