iimt haldwani

हल्द्वानी- हत्यारोपी पूर्व फौजी को आजीवन कारावास की सजा, पिछले साल इस बड़ी घटना को दिया था अंजाम

1327

हल्द्वानी-पिछले साल जुलाई में कालाढूंगी रोड पर भोलानाथ गार्डन मार्ग पर तिराहे के सामने स्थित गौरी कम्युनिकेशन के संचालक व युवा कारोबारी कुश बख्शी की रिटायर्ड फौजी ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। हत्यारोपी पूर्व फौजी मोहन सिंह रावत पुत्र देव सिंह रावत मूल निवासी बोहाल, झिरौली काफलीगैर बागेश्वर व हाल निवासी एचएमटी रानीबाग था।

amarpali haldwani

kush bakshi hatyakand haldwani

इस मामले में जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजीव खुल्बे की कोर्ट ने मोबाइल व्यवसायी हत्याकांड में दोषी करार दिया। और फैसाला सुनाते हुए रिटायर फौजी को आजीवन कठोर करावास के साथ दस हजार जुर्माने की सजा सुनाई है। साथ ही घटना में प्रयुक्त लाइसेंसी बंदूक होने पर 30 आम्र्स एक्ट के तहत छह माह की अतिरिक्त करावास की सजा सुनाई है।

इस मामले में मृतक के भाई गौरव लव बक्शी द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराई। अभियोजन की ओर से डीजीसी फौजदारी द्वारा आरोप साबित करने का 12 गवाह पेश करने के साथ ही सख्त सजा की प्रार्थना की। अभियोजन व बचाव पक्ष की दलीलें सुनने व सबूत व गवाह के बयान के आधार पर अभियुक्त को हत्या का दोषी करार दिया। कोर्ट के फैसले के बाद फौजी को जेल भेज दिया गया।