हल्द्वानी-अजय भट्ट ने निकाली भाजपा के दावेदारों की हवा, केवल एक सीट पर मिल सकता है मौका

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-लोकसभा चुनाव की सरगर्मिया तेज हो गई है। इस चुनाव में मैदान मारने के लिए भाजपा सबसे ज्यादा सक्रिय है। इसलिए अभी से भाजपा इसकी तैयारी मेें जुट गई है। भाजपा किसी भी सूरत में यह जंग जीतना चाहती है। इसके लिए उनके कार्यकर्ता भी जीतोड़ मेहनत करने में लगे है। हाल ही भाजपा द्वारा शुरू की रथ यात्रा से वोटरों का मन टटोला जा रहा है। वहीं लोकसभा चुनाव में भाजपा के कई दावेदार सामने आ रहे है। विगत दिवस भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने इस पर साफ कहा कि भाजपा में नो वैकेंसी। सिर्फ एक सीट पर घमासान है वो है गढ़वाल लोकसभा सीट। वर्तमान सांसद पूर्व सीएम भुवन चन्द्र खंडूरी के चुनाव लडऩे से इंकार करने पर इस सीट पर कई दावेदारों की नजर है।

गढ़वाल लोकसभा सीट दावेदारी का मौका

हालांकि नैनीताल-ऊधमसिंह नगर सीट, अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ सीट पर कई दावेदारी कर चुके है। लेकिन भाजपा प्रदेशअध्यक्ष के बयान से साफ हो गया है कि सीटें फुल है। केवल गढ़वाल सीट पर वैकेंसी हो सकती है। फिलहाल ये तो समय ही बतायेंगा कि भाजपा हाईकमान किसे लोकसभा चुनाव में मौका देता है। पार्टी की नजर जीताऊ प्रत्याशी पर ही होगी। भाजपा कोई भी सीट खोना नहीं चाहती है। नैनीताल सीट पर वर्तमान सांसद भगत सिंह कोश्यारी के अलावा, कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत, कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और पूर्व सांसद बलराज पासी ने भी दावेदारी ठोंकी है। वही गढ़वाल लोकसभा सीट पर दावेदारी के लिए एक मौका है। वही हाल ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मीटिंग में प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट भी शामिल थे तब दावेदारी की बात सामने आयी थी लेकिन हाईकमान से साफ कर दिया किया वह अपने पुराने दिग्गजों पर ही भरोसा जतायेंंगी। हां अगर कोई नहीं लडऩा चाहता तो इस स्थिति में इन वैकेंसी खुल सकती है।

2014 में पांचों सीटें भाजपा के खेमे में

वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा से प्रदेश में पांचों सीटों पर विजयी पताका फहरायी थी। इस बार भी भाजपा अपनी जीत बरकरार रखना चाहती है। लेकिन इसके लिए उसे कड़ी मेहनत की जरूरत पड़ेगी। पिछले लोकसभा चुनाव में अल्मोड़ा से अजय टम्टा को 346586 वोट मिले थे जबकि उनके विपक्षी प्रदीप टम्टा 250550 वोटों पर संतोष करना पड़ा। गढ़वाल से भुवन चंद्र खंडूरी को 405690वोट मिले जबकि उनके विपक्षी हरक सिंह रावत को 221164 वोट मिले। वही हरिद्वार से रमेश पोखरियाल को 567662वोट मिले जबकि रेणुका रावत को 368340 वोटों पर सिमटना पड़ा। नैनीताल-उधमसिंह नगर से भगत सिंह कोश्यारी को 636769वोट मिले जबकि केसी सिंह बाबा 352052 पर संतोष करना पड़ा। वही टिहरी गढ़वाल सीट पर माला राज्‍य लक्ष्‍मी शाह को 442531वोट मिले जबकि साकेत बहुगुणा को केवल 252030 वोटों से संतोष करना पड़ा।