iimt haldwani

हल्द्वानी- आनंदा एकेडमी में मची एक्सप्रेसन 2019 की धूम, बच्चों ने नृत्य से जीता दिल

54

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- आज डहरिया स्थित आनंदा एकेडमी में वार्षिक डांस प्रेजेन्टेसन कार्यक्रम ‘एक्सप्रेसन 2019’ का आयोजन किया गया। इस मौके पर कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि डा. एलएम जोशी, संस्थापक दीवान सिंह बिष्ट व प्रबन्धक भूपेन्द्र सिंह बिष्ट तथा प्रधानाचार्या रुपाली बिष्ट ने दीप प्रज्जवलित कर किया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंखला में सर्वप्रथम कक्षा चार के छात्र-छात्राओं द्धारा ईश वन्दना (नमो नम:) के साथ कार्यक्रम की शुरूआत की। इसके बाद अन्य बच्चों ने कई संस्कृतियों पर व ज्वलंत विषयों पर नृत्य के माध्यमों से प्रस्तुति दी।

amarpali haldwani

लोकनृत्य में बटारी तालियां

कार्यक्रम में कक्षा तीन के छात्र-छात्राओं द्धारा गुजराती नृत्य की प्रस्तुति दी गई। इसके साथ-साथ भारत के अनेक लोकनृत्य जैसे भागड़ा, गिद्धा, राजस्थानी व कुमांऊनी संस्कृति की झलक देखने को मिली और साथ ही साथ हीे खूब तालियां भी बटोरी। इसके अतिरिक्त छात्र-छात्राओं द्धारा समाज में फैली कुरितियों के विरुद्ध जागरुकता पैदा करने वाले कई थीम आधारित प्रस्तुतियां दी गई जिसमें बाल विवाह, सेव वाटर, महिलाओं के विरुद्ध हिंसा, स्वच्छ भारत आदि प्रस्तुतियों ने दशकों का मन मोह लिया। मंच संचालन शिक्षिका सुनीता भाकुनी एवं चंद्रकला बिष्ट द्वारा किया गया। इससे पूर्व प्रधानाचार्या रुपाली बिष्ट ने बताया कि यह कार्यक्रम आनंदा एकेडमी स्कूल का वार्षिक कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य सभी बच्चों को एक बड़ा मंच प्रदान करना है जिससे कि उनका डांस के माध्यम से समग्र व्यक्तित्व विकास हो। उन्होंने बताया कि इसी कारण इसका नाम एक्सप्रेशन्स-2019 रखा गया है।

इस मौके पर मुख्य अतिथि डा. एलएम जोशी ने अपने संबोधन में विद्यालय को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आनन्दा एकेडमी विद्यालय शिक्षा तथा शिक्षणेत्तर गतिविधियों में सदैव अच्छा कार्य करता आ रहा है। कार्यक्रम के अंत में प्रधानाचार्या रुपाली बिष्ट द्वारा सभी का धन्यवाद किया गया। इस अवसर पर विद्यालय की कॉन्सेप्ट हैड तथा संयोजिका दीक्षा बिष्ट, विक्रम बिष्ट, कमल तिवारी, दीपा पाण्डे, प्राक्षी ओझा, आइना भमरा,नीलम शर्मा, पिंकी बिष्ट, गौहर सिद्दिकी, कुसुम पचौरी, सरोज रौतेला, पूजा मनराल, रिचा रौतेला, मीनाक्षी तिवारी, रेनू पन्त समस्त आभिभावक, शिक्षिक-शिक्षिकाएं तथा विद्यार्थी मौजूद थे।