inspace haldwani
Home उत्तराखंड हल्द्वानी-आदि योग फांउडेशन की बॉलीवुड कलाकारों ने की जमकर तारीफ, मानसी जोशी...

हल्द्वानी-आदि योग फांउडेशन की बॉलीवुड कलाकारों ने की जमकर तारीफ, मानसी जोशी ने चलाई योग की अनोखी मुहिम

हल्द्वानी-आज कल की व्यस्त जिन्दगी में हम सभी लोग अपने शरीर पर ध्यान ही नहीं देते है। ऐसे में हम लोग किसी न किसी बीमारी से ग्रसित हो जाते है। इन बीमारियों से मुक्त करने के लिए आप योग कर सकते है। योग दस हजार साल से भी अधिक समय से प्रचलन में है। योग को अन्तर्मन की यात्रा या चेतना को विकसित करने की एक प्रक्रिया के रूप में देखा जाता है। योग हर बीमारी की दवा है। इससे इंसान स्वस्थ्य रहता है। इंडिया योगा एसोसिएशन की मेंबर मानसी जोशी इसे परम्परागत तरीकें से आगे बढ़ाने में जुटी है। वह आदि योग फाउंडेशन की प्रजीडेंट है। इसी माध्यम से वह लोगों को जोडऩे में जुटी है। उनके योग सीखाने को लेकर बॉलीवुड के कलाकारों ने उनकी जमकर तारीफ करते हुए उन्हें बधाई भी दी।

aaditya narayan

इन फिल्मी सितारों ने दी बधाई

आदि योग फाउंडेशन की प्रेजीडेंट मनाीषा जोशी को उनके फेसबुक पेज पर बॉलीवुड के गायक उदित नारायण के बेटे आदित्य नारायण ने बधाई देते हुए कहा कि वर्ष 2019 में आदि योग फांउडेशन योग सीखा रहा हैं। योग हमारे संस्कृति का पुराना हिस्सा रहा है। योग पढ़ाई की तरह नहीं है बल्कि यह शरीर को स्वस्थ्य रखने की एक अचूक औषधि है जो हमारे तन, मन और शरीर को स्वस्थ्य रखता है। कलाकार नितिन कक्कड़ ने कहा कि आज एक ओर लोग पर्यावरण को लेकर चिंचित है तो वहीं आपके शरीर का स्वस्थ्य रखने और आपकों जागरूकर करने का काम आदि योग फंाउडेशन कर रहा है। उन्होंने टीम लीडर मानसी जोशी और पूरे टीम को उनकी इस मुहिम के लिए बधाई दी।

Dev Negi

वही तारक मेहता का उल्टा चश्मा में अभिनय कर रही अंजलि तारक मेहता (नेहा के मेहता) ने कहा कि सभी अपनी जिंदगी में योग को महत्त्व दें। आदि योग फांउडेशन और मानसी जोशी जी ने जो ये मुहिम शुरू की है उसमें साथ दें और अपने जीवन और स्वास्थ्य को सुंदर बनाये, देश को संबल बनाये। बॉलीवुड गायक देव नेगी ने कहा कि आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में योगा का बड़ा महत्व है। उन्होंने आदि योग फांउडेशन और मानसी जोशी को बधाई देते हुए उन्हें शुभकामनाएं दी।

manshi joshi

योग शारीरिक व्यायाम नहीं है- मानसी

मानसी जोशी ने बताया कि योग भारतीय ज्ञान की पांच हजार वर्ष पुरानी शैली है। हालांकि कई लोग योग को केवल शारीरिक व्यायाम ही मानते हैं, जहा लोग शरीर को मोड़ते-मरोड़ते, खींचते हैं और श्वास लेने के जटिल तरीके अपनाते हैं। उन्होंने बताया कि पुराने समय में ऋषि-मुनि मानसिक तनाव को खत्म करने के लिए योग का इस्तेमाल करते थे। वह कई शिक्षण संस्थानों में बच्चों को योग के बारे में जानकारी देती आयी है। इसके अलावा कई संस्थानों मेंं वह योगा करा चुकी हैं। उन्होंने बताया कि आसन सिर्फ हाथ-पैर हिलाना नहीं है बल्कि आसन के समय और एक ऑडर में लाने की आवश्यकता है।

Related News

देहरादून- स्पा सेंटरों के खिलाफ ऐक्शन में उत्तराखंड पुलिस, जारी किये ये निर्देश

देहरादून में इन दिनों स्पा सेंटरों का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। बाहर से दिखने में ये स्पा सेंटर, मसाज सेंटर आदि प्रतीत होते...

देहरादून- उत्तराखंड पहुंची कोरोना वैक्सीन की दूसरी खेप, इतनो को लग सकेगा टीका

केन्द्र सरकार से उत्तराखण्ड को कोविड-19 के टीकाकरण के लिए कोविशिल्ड वैक्सीन की 92,500 डोज उपलब्ध कराई है। यह वैक्सीन बुधवार को देहरादून एयरपोर्ट...

देहरादून- सचिवालय में कार्यरत होमगार्डों को सीएम त्रिवेन्द्र का तोहफा, प्रदेश के कई कार्यों को दी अनुमति

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में कार्यरत 309 होमगार्डस को 25-04-2017 से 02-07-2018 तक के अवशेष ड्यूटी भत्ते के एरियर भुगतान के लिए...

देहरादून- हरीश रावत से ये क्या बोल गए वन मंत्री हरक सिंह रावत, जाने क्यों हरदा को कहा झूटा

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चेहरा घोषित करने के बाद कांग्रेस में...

रुद्रपुर: शान ओ शौकत से खुला बंसल साड़ीज का शोरूम, पहले दिन उमड़ी महिलाओं की भीड़

रुद्रपुर। व्यापार के क्षेत्र में प्रतिष्ठित बंसल ग्रुप ने अब कपड़ो के व्यापार में भी जोरदार धमक के साथ कदम रख दिए है। आज प्रातः सिविल लाइन...

हल्द्वानी- कुमाऊं कमिश्नर ने राजस्व वसूली का बनाया ये प्लान, अधिकारियों को दिये कड़े निर्देश

कुमाऊं कमिश्नर अरविन्द सिंह ह्यांकी ने मंगलवार को राजस्व विभाग के कार्यों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। इस दौरान कम राजस्व...