हल्द्वानी- बेटी पैदा होने पर पति ने दिया तीन तलाक पेट में मारी लात , घर से निकाला

Slider

तीन तलाक कानून बनने के बाद लोगों में इसका खौफ नजर नहीं आ रहा है। आए दिन तीन तलाक के मामले सामने आ रहे हैं। भले ही पूरे देश में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं का नारा चल रहा हो, लेकिन हल्द्वानी में बेटी को अभिशाप के रूप में देखा जाने लगा है जिसके चलते कुछ लोग महिलाओं पर जुल्म ढाने से बाज नहीं आ रहे हैं।

आज हल्द्वानी के बनभूलपुरा थाने में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है पति और ससुरालियों ने महिला को सिर्फ इस लिए तीन तलाक बोल घर से निकाल दिया, क्यों उसने बेटी को जनम दिया। अभी कुछ दिन पहले ही आपरेशन से 15 अगस्त को बेटी पैदा हुई थी। इसके पहले महिला ने मारपीट के शिकायत पुसिल से की थी, लेकिन कुछ नहीं हुआ। महिला का आरोप है कि बेटी पैदा होने पर ससुराल वाले उसके साथ बरा बर्ताव करने लगे।

Slider

talaq12

जब पेट में मारी लात

21 अगस्त को पीडि़ता की बहन घर आई थी इस बीच उसका पति उसकी बहन से छेड़छाड़ करने लगा। बहन ने इसका विरोध किया और हद में रहने की नसीहत दी। इस बात से नाराज पति ने उसके पेट में लात मार दी। महिला का आरोप है कि अभी आपॅरेशन के टांके भी नहीं कटे और पति ने उसके साथ मारपीट की।

talaq-1

कार्रवाई के बजाय जांच की बात रही पुलिस

पुलिस की तहरीर पर माजिद अली, अफसर अली, आरजू मुस्कान और राजवी के खिलाफ मुस्लिम महिला विवाह पर अधिकारों की सुरक्षा अधिनियम , मारपीट, धमकी देने और गाली गलौच करने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। हैरानी की बात ये है कि तीन तलाक कानून की धाराओं के अनुसार पुलिस को आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार करना चाहिए। आए दिन ऐसी घटनाएं देखने के बाद सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि सरकार की इतनी कोशिशों के बाद भी अगर बेटियों को लेकर समाज का यही रुख है, तो आखिरकार देश किस बात की तरक्की कर रहा है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें