inspace haldwani
Home उत्तराखंड गढ़वाल गुलदार की दहाड़ से डरे हुए है लोंग, लगातार बढ़ रहे है...

गुलदार की दहाड़ से डरे हुए है लोंग, लगातार बढ़ रहे है मौत के मामले

देहरादून-105 सरकारी कॉलेजों के छात्रों को मिलेगा फ्री वाईफाई, इस दिन से शुरू होगी सुविधा

देहरादून-प्रदेश के छात्रों के लिए अच्छी खबर है। 105 सरकारी कॉलेजों व सभी सरकारी विश्वविद्यालय के कैम्पसों में आगामी आठ नवंबर से छात्रों को...

ऋषिकेश-परमार्थ निकेतन पहुंचे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल, किया ये खास काम

ऋषिकेश- आज सुबह राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने परमार्थ निकेतन में विश्व शांति के लिए यज्ञ में आहुति डाली। जिसके बाद वह अपने...

देहरादून-मातम में बदली शादी की खुशियां, खाई में समाई बरातियों से भरी कार

देहरादून-देर रात शादी समारोह में शामिल होने कार सवारों की कार खाई में जा गिरी। जिससे पल भर में खुशियां मातम में बदल गई।...

देहरादून-10वीं व 12वीं के छात्रों को दी बोर्ड ने बड़ी राहत, आवेदन फार्म की अंतिम तिथि बढ़ी

देहरादून-राज्य सरकार ने उत्तराखंड बोर्ड के हाईस्कूल और इंटर के परीक्षार्थियों को राहत दी है। बोर्ड के संस्थागत और व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा...

देहरादून-केंद्रीय वन मंत्री जावड़ेकर से सीएम ने की मुलाकात, युवाओं को रोजगार के लिए कही ये बात

देहरादून- आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नई दिल्ली में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से भेंटकर राज्य से संबंधित मामलों पर...

देहरादून — पुरे प्रदेश में इन दिनों गुलदारों के दहशत काम होने का नाम नहीं ले रही हैं । करीब 43 दिनों में गुलदारों की घटना इतनी बढ़ गई कि सात जिलों में आठ व्यक्तियों की अभी तक जान जा चुकी है , जबकि छह लोंग घायल हो चुके है । यानी हर पांचवें दिन औसतन एक व्यक्ति की मौत इनके हमले में हुई। गुलदारों के लगातार बढ़ते हमलों से वन महकमे की पेशानी पर बल पड़े हुए हैं। हालांकि, फौरी कदम उठाते हुए दो गुलदार आदमखोर घोषित कर ढेर भी किए गए, लेकिन समस्या निरंतर बनी है। नतीजतन जनाक्रोश भी बढ़ रहा है। गुलदारों से हो रहे इस टकराव रोकने के मद्देनजर रणनीति बनाने के लिए वन महकमा अब नए सिरे से मंथन में जुट गया है।

वर्तमान में उत्तराखंड का शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र होगा, जहां गुलदारों ने नींद न उड़ाई हो। क्या पहाड़ और क्या मैदान, सभी जगह आबादी वाले क्षेत्रों में मवेशियों की तरह ये घूम रहे हैं। यानी, न खेत-खलिहान सुरक्षित है और न घर-आंगन। हालिया दिनों में तो गुलदारों के हमले ज्यादा बढ़े हैं।
हमलों में आठ व्यक्तियों को जान गंवानी पड़ी। इससे पहले जनवरी से सितंबर तक नौ माह की अवधि में 14 व्यक्तियों को गुलदारों ने निशाना बनाया था।

Related News

देहरादून-105 सरकारी कॉलेजों के छात्रों को मिलेगा फ्री वाईफाई, इस दिन से शुरू होगी सुविधा

देहरादून-प्रदेश के छात्रों के लिए अच्छी खबर है। 105 सरकारी कॉलेजों व सभी सरकारी विश्वविद्यालय के कैम्पसों में आगामी आठ नवंबर से छात्रों को...

ऋषिकेश-परमार्थ निकेतन पहुंचे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल, किया ये खास काम

ऋषिकेश- आज सुबह राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने परमार्थ निकेतन में विश्व शांति के लिए यज्ञ में आहुति डाली। जिसके बाद वह अपने...

देहरादून-मातम में बदली शादी की खुशियां, खाई में समाई बरातियों से भरी कार

देहरादून-देर रात शादी समारोह में शामिल होने कार सवारों की कार खाई में जा गिरी। जिससे पल भर में खुशियां मातम में बदल गई।...

देहरादून-10वीं व 12वीं के छात्रों को दी बोर्ड ने बड़ी राहत, आवेदन फार्म की अंतिम तिथि बढ़ी

देहरादून-राज्य सरकार ने उत्तराखंड बोर्ड के हाईस्कूल और इंटर के परीक्षार्थियों को राहत दी है। बोर्ड के संस्थागत और व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा...

देहरादून-केंद्रीय वन मंत्री जावड़ेकर से सीएम ने की मुलाकात, युवाओं को रोजगार के लिए कही ये बात

देहरादून- आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नई दिल्ली में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से भेंटकर राज्य से संबंधित मामलों पर...

देहरादून-2021 में इस दिन होगीं सैनिक स्कूल की प्रवेश परीक्षा, देखिये आवेदन की अंतिम तिथि

देहरादून-अगर आप अपने बच्चे का दाखिला सैनिक स्कूल में कराना चाहते है तो आपके लिए अच्छी खबर है। आप सैनिक स्कूल की प्रवेश परीक्षा...