inspace haldwani
Home उत्तराखंड अब पढ़े लिखे ही बनेंगे ग्राम प्रधान, 2019 में इस नये कानून...

अब पढ़े लिखे ही बनेंगे ग्राम प्रधान, 2019 में इस नये कानून के साथ लड़ा जाएगा पंचायती चुनाव

उत्तराखंड में जुलाई-अगस्त में हरिद्वार को छोड़कर बाकी 12 ज़िलों में पंचायतों का कार्यकाल ख़त्म हो रहा है। इस बार पंचायत चुनाव नए कानून के अनुसार होंगे लड़े जाएंगे। जिसका विधेयक बुधवार को विधानसभा ने पारित किया है। पंचायती राज संशोधन विधेयक के पास होने के बाद चुनाव की तस्वीर अब पूरी तरह से बदल जाएगी। जिसके बाद से कई तरह के बदलाव पहले से होते आ रहे पंचायती चुनाव में देखने को मिलेंगे।

दो बच्चों की पाबंदी

पंचायती राज संशोधन बिल पास करके उत्तराखण्ड ऐसा छठा राज्य बन गया है जहां दो से ज़्यादा बच्चों वाले पंचायत चुनाव नहीं लड़ सकते। इससे पहले हरियाणा, राजस्थान, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश और उड़ीसा में ऐसा प्रावधान था। विधेयक के प्रावधान के अनुसार अब प्रदेश में भी दो से ज्यादा बच्चों वाले पंचायत चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। संशोधन विधेयक में 300 दिन के ग्रेस पीरियड की उस व्यवस्था को भी खत्म कर दिया है जिसका प्रावधान विधेयक के ड्राफ़्ट में था।

panchaiyti election

शैक्षिक योग्यता

राज्य में अब तक हुए पंचायत चुनाव में शिक्षा संबंधी भी कोई पाबंदी नहीं थी लेकिन अब पंचायत चुनाव लड़ने के लिए न्यूनमत शैक्षिक योग्यता Education अनिवार्य हो गई है। अब किसी भी पद के लिए सामान्य वर्ग के प्रत्याशी का हाईस्कूल पास होना ज़रुरी है जबकि सामान्य महिला और अनुसूचित जाति जनजाति के प्रत्याशियों के लिए 8वीं पास होना अनिवार्य किया गया है।

दोगुना हुई खर्च की सीमा

इसके अलावा पंचायत चुनाव से जुड़ी एक और जानकारी है। सितम्बर में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारी में जुटे राज्य निर्वाचन आयोग ने खर्च की सीमा को दोगुना कर दिया है। नामांकन पत्रों के शुल्क के साथ जमानत राशि तक में बढ़ोत्तरी कर दी गई है।

Related News

देहरादून- ईमानदार नेतृत्व के रूप में बनी सीएम त्रिवेंद्र की छवि, केन्द्र से इन कार्यों की मंजूरी संग लौटे देवभूमि

अब जबकि कि उत्तराखंड में त्रिवेंद्र सरकार को चार साल पूरे होने जा रहे है, ऐसे में अब सरकार के कार्यो का आंकलन भी...

देहरादून- उत्तराखंड में भाजपा के विकास कार्यों से जनता खुश, किसानों के हित में हुए अनेक कार्य- गौतम

भाजपा राष्ट्रीय महा मंन्त्री व उत्तराखंड के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम ने कहा कि विकास एक सतत प्रक्रिया है। उत्तराखंड के गैरसैण में...

हल्द्वानी- भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने नये बजट को बताया विकास के लिए मील का पत्थर, ऐसे समझायें फायदे

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा पेश बजट में आम आदमी का ध्यान रखा गया है। इसे...

कोटद्वार- सांसद बलूनी की मेहनत लाई रंग, रेलवे ने सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस का किया उद्घाटन

कोटद्वार-दिल्ली रूट पर आज से सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस का संचालन शुरू हो गया है। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश...

हल्द्वानी- उत्तराखंड बॉक्सिंग एसोसिएशन के 8 रेफरी और जजो को मिला सम्मान, ये रहे कार्यक्रम में मौजूद

कुमाऊँ के सबसे बड़े महाविद्यालय एम.बी.पी.जी कॉलेज के खेल विभाग में आज कालेज के प्राचार्य डॉ. बी.आर पंत और उत्तराखंड बॉक्सिंग के महासचिव गोपाल...

हल्द्वानी- उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में स्थापित हुआ रेडऑन का जीओ स्टेशन, ऐसे करेगा काम

उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में भाभा औटोमिक रिसर्च सेण्टर (बार्क), मुंबई के सहयोग से रेडऑन जीओ स्टेशन स्थापित किया गया। जिसका इस्तेमाल मिट्टी में रेडऑन...