रुदपुर- (बड़ी खबर)-जिला सहकारी बैंक के महाप्रबंधक निलंबित, सामने आयी ये बड़ी लापरवाही

Slider

Rudrapur News- यहां जिला सहकरी बैंक के महाप्रबंधक को निलंबित कर दिया गया। बताया जा रहा है कि दीनदयाल सहकारिता किसान कल्याण योजना को जमीनी स्तर पर लागू न कर पाने के चलते यह निर्णय लिया गया है। इस मामले में सहकारी समितियां के प्रदेश सचिव बीपी मिश्र ने स्पष्ट कहा कि उनकी तरफ से जहां उच्च अधिकारियों के निर्देशों का लगातार अवहेलना की जाती रही। वही सहकारिता मंत्री की तरफ से योजना की समीक्षा बैठक में दिए गए निर्देशों व ऋण योजनाओं को जमीनी स्तर पर लागू करने में लापरवाही बरती गई। इसके अलावा बैंक महाप्रबंधक की समीक्षा में पाया गया कि मात्र एक स्वयं सहायता समूह को ही ऋण प्रदान किया गया। साथ ही एनपीए खातों की वसूली के लिए जो लक्ष्य दिया गया। वह भी उनकी तरफ से पूरा नहीं किया जा सका। जिसके बाद महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक मनोहर सिंह भंडारी को निलंबित कर दिया गया है।

UCF Newstodaynetwork
प्रदेश सचिव बीपी मिश्र की तरफ से सहकारी बैंक महाप्रबंधक मनोहर सिंह भंडारी को भेजे गए निलंबन आदेश में वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों की अनदेखी सहित विभागीय लापरवाही की बात कही है। महाप्रबंधक को एनपीए खातों की धनराशि वसूली का जो लक्ष्य दिया गया, उसमें भी वह फिसड्डी रहे। उनकी तरफ से मात्र 4.95 प्रतिशत ही ऋण की वसूली की जा सकी। इन मामलों में अधिकांश ग्राहकों के खिलाफ आरसी काटे जाने की कार्रवाई महाप्रबंधक के स्तर पर की जानी थी लेकिन वह भीनहीं की गई। इसके साथ ही किच्छा स्थित सहकारी बैंक एटीएम व बेरियादौला में स्थापित किए गए एटीएम निरीक्षण में बंद पाए गए।

Slider

spended
सचिव ने बताया कि जिले में वित्तीय वर्ष 2019-20 समाप्ति की ओर है और जिला सहकारी बैंक की कुल 33 शाखाओं में 15 शाखाएं घाटे पर संचालित की जा रही है। इन सभी कारणों का आधार मानते हुए सचिव सहकारी समितियां ने उनको तत्काल प्रभाव से निलंबित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उनकों मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया है। निलंबित महाप्रबंधक मनोहर सिंह भंडारी का कहना है कि सचिव की ओर से उन्हें निलंबन मामले में पूर्व में कोई नोटिस नहीं दिया गया है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें