drishti haldwani

गदरपुर- ऊधमसिंह नगर में मुंबई पुलिस की छापेमारी, चार राज्यों में इन बड़ी वारदातों में शामिल था ये गैंग

419

Gadarpur News- ऊधम सिंह नगर जिला लंबे समय से अपराधों का गढ़ बना है। अब यहां रहकर अपराधी दूसरे राज्यों में बड़ी वारदातों को अंजाम दे रहे है। मामला तक सामने आया जब विगत दिवस मुंबई पुलिस ने गूलरभोज क्षेत्र में छापेमारी की। अचानक मुंबई पुलिस को देख लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। पिछले करीब दो सालों से ग्वालियर, जयपुर, भीलवाड़ा में बड़ी वारदातों को अंजाम देकर इस गैंग ने मुंबई को अपना निशाना बनाया है। नवी मुंबई में एक वृद्ध से साढ़े तीन तोले सोने के जेवर ठग लिए। जांच में ठगों के तार उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले से जुड़े मिले। यहा पहुंची मुंबई पुलिस ने एक ठग को दबोच लिया। तीन अन्य की धरपकड़ के लिए छापामारी की जा रही है।

iimt haldwani

mumbai_police
नवी मुंबई से पहुंची पुलिस ने शनिवार दोपहर गूलरभोज में छापेमारी की। इस दौरान गैंग के एक आरोपी फिरोज को दबोच लिया। बताया जा रहा है कि विगत 9 अक्टूबर को नवी मुंबई में एक वृद्ध से करीब साढ़े तीन तोले गहने की ठगी की गई है। इसकी शिकायत वृद्ध ने पुलिस से की। जांच में जुटी पुलिस ने सीसीटीवी और सर्विलांस की मदद ली। इनमें से एक आरोपी की लोकेशन ऊधमसिंह नगर के गूलरभोज में मिली। शनिवार को पहुंची टीम ने उसे पकड़ लिया। इस दौरान महिलाओं ने पुलिस का विरोध कर दिया और आरोपी को छुड़ाने का प्रयास किया। पूछताछ में उसने अपने तीन अन्य साथियों के साथ वारदात को अंजाम देने की बात कबूली।

यह ठग गिरोह कई सालों से बड़ी वारदातों को अंजाम दे रहे है। इस गिरोह ने मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड, उत्तर प्रदेश व हरियाणा दर्जनों वारदातों को अंजाम दिया है। बताया जा रहा है कि तीन दर्जन से अधिक युवा इस गैंग में शामिल है। यह गैंग हरिपुरा जलाशय की डाउन स्ट्रीम में झुग्गियों में रहता है। वर्ष 2017 में ग्वालियर शहर में एक महिला से ठगी में इसी गां का शाहिद पुलिस के हाथ लगा था। इस बड़ी वारदात में पांच लोग शामिल थे। इसके बाद इसी गैंग ने राजस्थान के जयपुर में महिलाओं को अपना शिकार बनाया। विगत जुलाई में राजस्थान के भीलवाड़ा में तीन बड़ी वारदातों को अंजाम दिया गया। जिसमें इलियास नाम के युवक को पुलिस ने दबोचा। सभी लोग हरिपुरा मेंं रह रहे है।