नई दिल्ली- अगले दो मैचो के लिए इन दो खिलाड़ियों को BCCI दिखा सकती है टीम से बाहर का रास्ता, ये है बड़ी वजह

0
121

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: महिलाओं को लेकर दिए गए बयानों को लेकर बीसीसीआइ दो भारतीय क्रिकेटरों पर दो मैच का बैन लगा सकता है। जानकारी मुताबिक प्रशासकों की कमेटी के मुखिया विनोद राय ने कहा है कि वो हार्दिक पांड्या द्वारा दिए गए नोटिस से जवाब से असंतुष्ट हैं और उन्होंने इन दोनों भारतीय खिलाड़ियों पर दो मैच का बैन लगाने का सुझाव दिया है। हालांकि सीओए के बाकी सदस्य और डायना इडुल्जी का मानना है कि उन्हें इस पर कानूनी तौर पर कार्रवाई करनी चाहिए।

इन दो खिलाड़ियों पर लगेगा बैन

टीवी का मशहूर शो कॉफी विद करन में हार्दिक पांड्या ने महिलाओं को लेकर एक बयान दिया था। इसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड बीसीसीआई ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था। इस नोटिस के बाद पांड्या ने बीसीसीआइ से माफी मांगते हुए जवाब भी दिया था, लेकिन प्रशासकों की कमेटी के मुखिया विनोद राय पांड्या के जवाब से असंतुष्ट हैं और उन्होंने पांडया और राहुल पर सजा के तौर पर दो मैच का बैन लगाने को कहा है। बता दें हार्दिक पांड्या ने बुधवार को बीसीसीआइ के कारण बताओ नोटिस का जवाब देते हुए कहा कि वह टीवी शो पर महिलाओं के खिलाफ की गई टिप्पणी के लिए ‘विनम्रतापूर्वक माफी मांगते हैं, जिन्हें सेक्सिस्ट और स्त्री विरोधी करार दिया गया।’पता चला है कि हार्दिक पांड्या ने भारतीय टीम प्रबंधन और यहां अपने साथियों से माफी मांग ली है। इस शो पर उनके साथी लोकेश राहुल ने भी शिरकत की, हालाकि वह महिलाओं और रिश्तों पर पूछे गए सवालों पर अधिक संयमित दिखे।

ये था पूरा मामला

भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पांड्या ने टीवी शो के दौरान कुछ ऐसी बातें कही थी जिन्हें मर्यादित तो बिल्कुल नहीं कहा जा सकता। हालांकि पांड्या के विवादास्पद बयानों के बाद सोशल मीडिया पर लगातार उनकी बुराई हो रही थी। इसके बाद पांड्या ने माफी मांगी थी। पांड्या ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि मैं अपनी कही बातों के लिए उन लोगों से माफी मांगना चाहूंगा जिन्हें इससे दुख पहुंचा है। सच कहूं तो मैं शो के प्रारूप के मुताबिक भावनाओं में बह गया था। मेरा इरादा किसी की भावनाओं को आहत या किसी का अपमान नहीं करना चाहता था।

आपको बता दें कि पांड्या ने उस टीवी शो के दौरान कई महिलाओं से अपने संबंधों का खुलासा किया था और ये भी कहा था कि वो अपने माता-पिता से इन मसलों पर खुलकर बात करते हैं। जब उनसे पूछा गया कि वह क्लब में महिलाओं के नाम क्यों नहीं पूछते तो पांड्या ने कहा था कि मैं उन्हें देखना चाहता हूं कि उनकी चाल ढाल कैसी है। मैं थोड़ा ऐसा ही हूं। इसलिए मुझे यह देखना होता है कि वे कैसा बर्ताव करेंगी। उनके इस बयान के बाद क्रिकेट फैंस ने उनकी जमकर आलोचना की।