पौड़ी- ग्रामीण क्षेत्रों में मत्स्य पालन से बढ़ेगा रोजगार, साथ ही इन सुविधाओं का मिलेगा लाभ

0
57

पौड़ी- न्यूज टुडे नेटवर्क: विकास खण्ड पौड़ी के ग्रामसभा जोशियाना में मत्स्य विभाग के तहत मत्स्य बीज संचय कार्यक्रम का आज मुख्य अतिथि के रूप में मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति सिंह ने शुभारंभ किया। इसकी शुरूआत उन्होंने मनरेगा के तहत बनाये गये जलाशय में मछली छोड़कर की। इस दौरान उन्होंने स्वरोजगार को बढावा देने एवं लोगों को अपने ही क्षेत्र में बेहतर रोजगार स्थापित करने को कहा। जबकि मत्स्य विभाग को जनपद के ब्लाकों में बनाये गये चैकडैम का भौतिक निरीक्षण कर मत्स्य बीज संचय करने के निर्देश दिये।

20 हजार मेजर एवं सिल्वर कार्प मत्स बीज छोडा

आयोजित कार्यक्रम के तहत मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति सिंह ने ग्राम सभाग जोशियाना में मनरेगा के तहत जल संचय एवं संरक्षण हेतु निर्मित चार चैकडैम(जलाशय) में मत्स्य विभाग के सहयोग से करीब 20 हजार मेजर एवं सिल्वर कार्प मत्स बीज छोडा। कार्यक्रम के दौरान उन्होने कहा कि स्थानीय स्तर पर अवैध मत्स्य आखेट से हुई क्षति को पूरित करने एवं मत्स्य पालन को बढावा देने के साथ-साथ स्वरोजगार को बढावा देना ही योजना का उद्देश्य है।

मनरेगा के तहत चैकडैमों बनाकर लोगों को रोजगार से जोड़ने व आस-पास के क्षेत्र में पेयजल एवं सिंचाई की समस्या को निजात दिलाना है। कहा कि इस योजना के तहत स्थानीय लोग पेयजल, सिंचाई एवं रोजगार के क्षेत्र में आत्म निर्भर बनेगें। मत्स्य विभाग को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि जनपद के ब्लाकों में मनरेगा के तहत बनाये गये चैकडैम जलाशय का भौतिक निरीक्षण कर उनमें मत्स्य बीज संचय के तहत मत्स बीज डलवायें।

ये रहे मौजूद

कार्यक्रम के दौरान जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, जिला अर्थ एंव संख्याधिकारी निर्मल कुमार शाह, मुख्य कृषि अधिकारी देवेन्द्र राणा, जिला उद्यान अधिकारी डा. नरेन्द्र सिह, मुख्य पशुचिकित्साधिरी एसके बर्थवाल, मत्स्य निरीक्षक पौड़ी, मुकेश जोशी सहित संबंधित सिह अधिकारी व स्थानीय जनप्रतिनिधी एवं ग्रामवासी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here