Electricity Bill: पब्‍लिक नहीं, इन सरकारी विभागों पर है लाखों का बकाया, आप भी जानिए नाम

Electricity Bill: बिजली के बड़े बकायेदारों के भुगतान (Payment) न करने पर बिजली विभाग (Electricity Department) अब सख्‍ते में आ गया है। जिसके चलते 70 बड़े बकायेदारों (Defaulter) के कनेक्शन को काटकर उन्हें चेतावनी (Warning) जारी कर दी है। इससे पहले भी मध्यांचल विद्युत वितरण निगम (MVVNL) के एमडी (MD) सूर्यपाल गंगवार ने बिजली भुगतान की राशि को जमा करने का समय भी दिया था। बरेली के साथ-साथ शाहजहांपुर बदायूं और पीलीभीत के सभी 47 हजार बड़े बकायेदारों को अब टारगेट किया गया है।
bijli bill
मध्यांचल विद्युत वितरण निगम (MVVNL) के एमडी सूर्यपाल गंगवार की बैठक में 5 लाख से अधिक के बकायेदारों के खिलाफ यह फैसला लिया गया। बिजली भुगतान को लेकर बीएसएनएल, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी, आबकारी, जिला जेल, महिला पॉलिटेक्नि (Polytechnic) समेत करीब 29 बड़े संस्थानों के कनेक्शन काटने की नौबत भी आ चुकी। जिसमें बीएसएनल (BSNL), नगर निगम, पीडब्ल्यूडी, आबकारी विभाग, की बिजली काट दी गई। जबकि जिला जेल और महिला पॉलिटेक्निक ने समय पर बकाया देकर कनेक्शन बचा लिए। इसके बाद विद्युत विभाग ने यह अभियान पूरे जिले में चलाया। जिसके चलते 70 कनेक्शन काटे गए।

जसौली में ई-रिक्शा (E-Rickshaw) चार्जिंग स्टेशन (Charging Station) का भी कनेक्शन काट दिया गया। पहले भी पांच ई-रिक्शा चार्जिंग स्टेशन के कनेक्शन काटे गए थे। 5 लाख से ऊपर के बकायेदारों की कुल संख्या 2146 है। जिसमें सबसे ज्यादा बकायदार बदायूं के हैं। जबकि बरेली में 855, शाहजहांपुर में 235, पीलीभीत में 117 बड़े बकायदा हैं। एक लाख से 5 लाख के बीच करीब 45000 बकायेदारों पर भी बिजली विभाग की टीम कनेक्शन काटने का अभियान शुरु कर चुकी है।

(कोरोना वायरस)उत्तराखंड के पहले ट्रेनी IFS अफसर जिन्होंने मौत को मात दी, देखिये पूरी कहानी