inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश E-vehicles: खुशखबरी! अब ऐसे ले सकेंगे ई-वाहन, मिलेगी टैक्स पर छूट

E-vehicles: खुशखबरी! अब ऐसे ले सकेंगे ई-वाहन, मिलेगी टैक्स पर छूट

वार्ता विफल: किसान बोले, गोली या समाधान, सरकार से कुछ तो लेकर रहेंगे

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सरकार और किसानों के बीच चल रहा गतिरोध अभी समाप्‍त होता नजर नहीं आ रहा है। मंगलवार दोपहर तीन बजे चल...

बरेली: सरकारी स्कूलों में खामियां मिलने पर भड़के डीएम, लगाई फटकार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। डीएम नीतीश कुमार ने देहात क्षेत्र के सरकारी स्‍कूलों का निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान डीएम को स्‍कूलों में तमाम खामियां...

पूर्व सभासद से अज्ञात ने फोन कर मांगी रंगदारी, धमकी भी दी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली में मीरगंज तहसील के पूर्व सभासद को फोन करके किसी अज्ञात व्‍यक्‍ति ने दो लाख रूपए की रंगदारी...

यूपी : घर के बाहर खेल रही दो साल की बच्ची से दुष्कर्म

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के आगरा बेहद शर्मनांक व दिल दहला देना वाला मामले सामने आया है। 15 साल के नाबालिक लड़के ने 2...

हल्द्वानी पहुंचे भाजपा नवनियुक्त प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट ने कही ये बात, 2022 चुनाव की ऐसे कर रहे तैयारी

उत्तराखंड में नवनियुक्त प्रदेश महामंत्री सुरेश भट आज उत्तराखंड पहुंच गए। भट्ट का रुद्रपुर और हल्द्वानी में कार्यक्रम हुआ जहाँ उन्होंने संगठन को मजबूत...

मोदी सरकार विकास और तकनीकी के साथ पर्यावरण (environment) पर भी खास ध्यान रखती है। पिछले कई दिनों से ही सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों (electric vehicles) पर जोर दे रही है। अब सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री और रजिस्ट्रेशन (sale and registration) पहले से फिट बैटरी के बिना के करने को मंजूरी दे दी है।
Electric Vehicle
सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि सरकार के इस फैसले से इन वाहनों की अपफ्रंट कीमत (upfront value) कम हो जाएगी। ई-वाहनों की कुल लागत में बैटरी की कीमत 30 से 40 फीसदी होती है। कंपनियां इन्हें अलग से मुहैया करा सकती हैं। मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोई निर्देश दिए हैं कि वाहनों को बिना बैटरी के भी बेचा जा सकता है और टेस्ट एजेंसी द्वारा जारी सर्टिफिकेट (certificate) के आधार पर इनका रजिस्ट्रेशन (registration) किया जा सकता है।

मंत्रालय ने बताया कि वाहनों के प्रदूषण और तेल आयात बिल को कम करने के लिए व्यापक राष्ट्रीय एजेंडा पाने के लिए संयुक्त रूप से काम करने का समय आ गया है। यह पर्यावरण की रक्षा करने के साथ ही तेल आयात बिल को कम करने और इस क्षेत्र को उद्योगों को भी अवसर प्रदान करेगा।
                    http://www.narayan98.co.in/
Narayan College                    https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

Related News

वार्ता विफल: किसान बोले, गोली या समाधान, सरकार से कुछ तो लेकर रहेंगे

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सरकार और किसानों के बीच चल रहा गतिरोध अभी समाप्‍त होता नजर नहीं आ रहा है। मंगलवार दोपहर तीन बजे चल...

बरेली: सरकारी स्कूलों में खामियां मिलने पर भड़के डीएम, लगाई फटकार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। डीएम नीतीश कुमार ने देहात क्षेत्र के सरकारी स्‍कूलों का निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान डीएम को स्‍कूलों में तमाम खामियां...

पूर्व सभासद से अज्ञात ने फोन कर मांगी रंगदारी, धमकी भी दी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली में मीरगंज तहसील के पूर्व सभासद को फोन करके किसी अज्ञात व्‍यक्‍ति ने दो लाख रूपए की रंगदारी...

यूपी : घर के बाहर खेल रही दो साल की बच्ची से दुष्कर्म

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के आगरा बेहद शर्मनांक व दिल दहला देना वाला मामले सामने आया है। 15 साल के नाबालिक लड़के ने 2...

हल्द्वानी पहुंचे भाजपा नवनियुक्त प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट ने कही ये बात, 2022 चुनाव की ऐसे कर रहे तैयारी

उत्तराखंड में नवनियुक्त प्रदेश महामंत्री सुरेश भट आज उत्तराखंड पहुंच गए। भट्ट का रुद्रपुर और हल्द्वानी में कार्यक्रम हुआ जहाँ उन्होंने संगठन को मजबूत...

बरेली: सपा भाजपा ने झोंकी पूरी ताकत, एमएलसी चुनाव का मतदान सम्पन्न

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। एमएलसी चुनावों के लिए मतदान मंगलवार शाम को सम्‍पन्‍न हो गया। एमएलसी सीट पर काबिज होने के लिए सपा और भाजपा...