देहरादून- लॉकडाउन के बीच इस दिन से लगेंगे Uttarakhand Tourism को पंख, खत्म होगा पर्यटक और श्रद्धालुओं का इंतजार

Slider

लॉकडाउन के चलते बंद पड़ी प्रदेश की पर्यटन और धार्मिक गतिविधियां अब दोबारा पटरी पर लौटती दिखाई दे रही है। उत्तराखंड सरकान ने केन्द्र के आदेश के बाद आठ जून से पर्यटन और तीर्थाटन गतिविधियों के लिए रियायत देने का ऐलान किया है। चारधाम यात्रा को लेकर सरकार की तैयारी पूरी है। केंद्र की एसओपी मिलने के बाद आठ जून से सरकार चरणबद्ध तरीके से चारधाम यात्रा समेत अन्य पर्यटन और धार्मिक गतिविधियों को शुरू करेगी।

uttarakhand tourism

Slider

6 महीने में 12 हजार करोड़ का कारोबार

केंद्र की ओर से पर्यटन उद्योग और तीर्थाटन को रियायतें देने से उत्तराखंड में पर्यटन व्यवसायियों ने राहत की सांस ली है। पर्यटन ही प्रदेश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। छह माह चलने वाली चारधाम यात्रा से करीब 12 हजार करोड़ का कारोबार होता है। प्रदेश सरकार की ओर से पर्यटन और तीर्थाटन गतिविधियों को खोलने के लिए केंद्र को प्रस्ताव भेजा गया था। जिसके बाद अब केन्द्र से आदेश के बाद बस एसओपी का इंतजार है।

rishikesh river rafting crew and guide news

इनको भी मिलेगी राहत

बता दें कि प्रदेश में 3439 होटल, 20 हजार रेस्टोरेंट, होटल स्थापित हैं। वहीं, 600 से अधिक साहसिक गतिविधियों से जुड़े व्यवसायी हैं। करीब एक लाख लोग पर्यटन व्यवसाय से जुड़े हैं। चारधाम यात्रा व अन्य पर्यटन गतिविधियां शुरू होने से इन बंद पड़े उद्योगों को राहत मिलेगी।

Madan Kaushik on transport department uttarakhand

वही मामले में उत्तराखंड के शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक की माने तो अनलॉक-1 को लेकर केंद्र की गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। केंद्र की रियायतों का प्रदेश को लाभ मिलेगा। चारधाम यात्रा और पर्यटन गतिविधियों को शुरू करने के लिए सरकार की तैयारी पूरी है। केंद्र की एसओपी मिलने के बाद प्रदेश में चरणबद्ध तरीके से चारधाम यात्रा व अन्य पर्यटन गतिविधियों को शुरू किया जाएगा।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें