inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड गढ़वाल देहरादून- उत्तराखण्ड उत्पादों के लिए बनेगा अम्ब्रेला ब्रांड, ऐसे होगीं उत्पादों की...

देहरादून- उत्तराखण्ड उत्पादों के लिए बनेगा अम्ब्रेला ब्रांड, ऐसे होगीं उत्पादों की बिक्री

देहरादून- सौंग बांध परियोजना को मिली पर्यावरणीय स्वीकृति, लाखों लोगों को ऐसे मिलेगा फायदा

देहरादून- सौंग बांध परियोजना को पर्यावरणीय स्वीकृति प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का आभार व्यक्त...

देहरादून- अब मात्र इतने रूपये में होगा कोविड-19 एंटीजन टेस्ट, सरकार ने जारी किया आदेश

देहरादून- प्रदेश सरकार ने कोविड-19 के लिए एंटीजन टेस्ट की कीमत 40 रुपये घटा दी है। जिसके बाद अब इस टेस्ट के लिए 679...

चमोली-CM ने उद्योगपति मुकेश अंबानी से किया वायदा निभाया , देखिये कैसे बदलेगी सीमांत इलाके की तस्वीर

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के प्रयासों से चमोली जनपद के सीमांत गांवों में मोबाईल कनेक्टिविटी पहुंच गई है। बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने नीति...

देहरादून-उत्तराखंड की बेटी को न्याय दिलाने के CM रावत खुद करेंगे पैरवी, देखिये कैसे बनाई व्यूह रचना

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री आवास में दामिनी (काल्पनिक नाम) के माता-पिता ने भेंट की। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत...

देहरादून-कोरोना बना राह में रोड़ा, अगले साल भी खिसकेगी इस परीक्षा की तारीख

देहरादून-कोरोना के चलते कई परीक्षाएं स्थगित करनी पड़ी है। ऐसे में कई परीक्षाओं का जनवरी 2021 में होने की संभावना है। इसका असर 2021...

देहरादून- आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड के उत्पादों के लिए एक अम्ब्रेला ब्रांड बनाए जाने के निर्देश दिए हैं। सभी ग्रोथ सेंटर, बिक्री और मुनाफे का लक्ष्य निर्धारित कर काम करें। जिलाधिकारी ग्रोथ सेंटरों में स्वयं जाकर वहां आने वाली समस्याओं का निस्तारण करें। इनके उत्पादों की ऑनलाइन मार्केटिंग की व्यवस्था की जाए। स्थानीय बाजारों पर भी फोकस किया जाए। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत सचिवालय में ग्रोथ सेंटरों की समीक्षा कर रहे थे। थानों व कोटाबाग के एलईडी ग्रोथ सेंटरों को क्वालिटी डिजायनर उपलब्घ कराए जाएं। हरिद्वार का प्रसाद निर्माण से जुड़े सेंटर आगामी कुम्भ को देखते हुए अपनी तैयारियां करें। सभी ग्रोथ सेंटरों से जुड़े लोगों के स्किल डेवलपमेंट की भी व्यवस्था की जाए।

देहरादून-रंग लाई त्रिवेन्द्र सरकार की मुहिम, ऐसे मिला 550 युवाओं को रोजगार
सीएम ने कहा कि ग्रोथ सेंटरों के उत्पादों की सीजनल ही नहीं बल्कि नियमित बिक्री की जाए। आसपास के कुछ ग्रोथ सेंटरों को मिलाकर एक पिकअप वाहन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा सकती है। ग्रोथ सेंटरों से जुड़े लोगों विशेषतौर पर महिलाओं के आत्मविश्वास में वृद्धि हुई है। इस आत्मविश्वास को और बढऩा है। जिलाधिकारी ग्रोथ सेंटरों में खुद जाकर वहां आने वाली समस्याओं का निस्तारण करें। ग्रोथ सेंटर आत्मनिर्भर भारत और वोकल फोर लोकल का अच्छा उदाहरण हैं।

नैनीताल- दुष्कर्म मामले में फंसे विधायक महेश नेगी को कोर्ट से बड़ी राहत, पढिय़े पूरी खबर
सीएम ने कहा कि उत्तराखण्ड के उत्पादों के लिए एक अम्ब्रेला ब्रांड बनाया जाए। इसके अंतर्गत अन्य ब्रांड भी चलते रहेंगे। इसके लिए दक्ष विशेषज्ञों की सहायता ली जाए। इसके लिए उत्तराखण्ड के उत्पादों की विशेषताए संभावित मार्केट आदि का पूरा अध्ययन किया जाए। ब्रांड का नाम इस प्रकार हो जिसमें उत्तराखण्ड की फीलिंग आए। उद्योग विभाग इसे क्रियान्वित करेगा।

मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिग के माध्यम से विभिन्न ग्रोथ सेंटरों के संचालक स्वयं सहायता समूहों से बात की और उनसे फीडबैक लिया। बताया गया कि ग्रोथ सेंटर प्रारम्भ होने से उनसे जुड़े ग्रामीणों और महिलाओं की आय में बढ़ोतरी हुई है। धीरे-धीरे उत्पादों को बाजार भी मिलता जा रहा है। स्थानीय लोग ग्रोथ सेंटरों से जुडऩे के लिए आगे आ रहे हैं। लोहाघाट के स्वयं सहायता समूह द्वारा बताया गया कि मशीने मिलने के बाद लोहे की कड़ाई के निर्माण में काफी वृद्धि हुई है। इससे उनकी आय भी बड़ी है। चमोली के उर्गम के स्वयं सहायता समूह ने बताया कि बदरी गाय के दूध व घी की अच्छी कीमत मिल रही है। दर्जनों ग्रोथ सेंटरों से जुड़े लोगों ने मुख्यमंत्री को ग्रोथ सेंटर योजना के लिए आभार व्यक्त करते हुए ग्रोथ सेंटरों की कार्यविधि की जानकारी दी।

अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार ने बताया कि अभी तक कुल 104 ग्रोथ सेंटर स्वीकृत किए गए हैं। इनमें से 72 क्रियाशील हो चुके हैं। अन्य भी जल्द ही शुरू हो जाएंगे। इन ग्रोथ सेंटरों से लगभग 30 हजार लोग लाभान्वित हो रहे हैं। स्वीकृत किए गए ग्रोथ सेंटरों में एग्री बिजनेस आधारित 38, बेकरी आधारित 04, डेयरी व दुग्ध उत्पाद आधारित 05, मत्स्य 11, आर्गेनिक ऊन 10, प्रसाद 05, मसाला 04, फल प्रसंस्करण 05, शहद व मौन पालन 04, एलईडी 02, शिल्प आधारित 05, आईटी 02, पर्यटन 02, हथकरघा व क्विल्ट आधारित 02, पशुआहार एक और एरोमा आधारित 04 ग्रोथ सेंटर हैं। सितम्बर 2020 तक क्रियाशील ग्रोथ सेंटरों की कुल बिक्री धनराशि 6 करोड़ 09 लाख रूपए रही जबकि लाभ की राशि 60 लाख रूपए से अधिक रही। ग्रोथ सेंटरों के टर्नओवर और मुनाफे में लगातार वृद्धि हो रही है। ग्रोथ सेंटरों की ऑनलाईन मार्केटिंग के लिए वेबसाइट बनाई जा रही है। इनका थर्ड पार्टी मूल्यांकन भी कराया जाएगा।

 

Related News

देहरादून- सौंग बांध परियोजना को मिली पर्यावरणीय स्वीकृति, लाखों लोगों को ऐसे मिलेगा फायदा

देहरादून- सौंग बांध परियोजना को पर्यावरणीय स्वीकृति प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का आभार व्यक्त...

देहरादून- अब मात्र इतने रूपये में होगा कोविड-19 एंटीजन टेस्ट, सरकार ने जारी किया आदेश

देहरादून- प्रदेश सरकार ने कोविड-19 के लिए एंटीजन टेस्ट की कीमत 40 रुपये घटा दी है। जिसके बाद अब इस टेस्ट के लिए 679...

चमोली-CM ने उद्योगपति मुकेश अंबानी से किया वायदा निभाया , देखिये कैसे बदलेगी सीमांत इलाके की तस्वीर

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के प्रयासों से चमोली जनपद के सीमांत गांवों में मोबाईल कनेक्टिविटी पहुंच गई है। बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने नीति...

देहरादून-उत्तराखंड की बेटी को न्याय दिलाने के CM रावत खुद करेंगे पैरवी, देखिये कैसे बनाई व्यूह रचना

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री आवास में दामिनी (काल्पनिक नाम) के माता-पिता ने भेंट की। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत...

देहरादून-कोरोना बना राह में रोड़ा, अगले साल भी खिसकेगी इस परीक्षा की तारीख

देहरादून-कोरोना के चलते कई परीक्षाएं स्थगित करनी पड़ी है। ऐसे में कई परीक्षाओं का जनवरी 2021 में होने की संभावना है। इसका असर 2021...

देहरादून-सरकार ने खाकी को दी ये बड़ी सौगात, खिले पुलिसकर्मियों के चेहरे

देहरादून-आज शासन में सैकड़ों पुलिसकर्मियों के चेहरे पर मुस्कान लौटा दी। राज्य पुलिस कर्मियों की पुरानी मांग व जायज ठहासते हुए फैसला लिया गया...