drishti haldwani

देहरादून- चारधाम यात्रा को लेकर प्रशासन ने तेज की तैयारियां, इस बार होगी केवल इतने लोगो के ठहरने की व्यवस्था

96

देहरादून- न्यूज टुडे नेटवर्क: भारी बर्फबारी से हुए नुकसान ने प्रशासन की चुनौतियां को और बढ़ा दिया हैं। बर्फबारी से चार धाम में बड़ी संख्या में प्री-फेब्रिकेटेड हट क्षतिग्रस्त हुई हैं। ऐसे में वर्तमान हालात को देखते हुए यहां रात में सिर्फ दो हजार यात्री ही ठहर पाएंगे, जबकि पिछले साल सात हजार यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था थी। बीते सीजन में सात लाख से ज्यादा यात्री केदारनाथ के दर्शनों को पहुंचे थे। जून में प्रतिदिन दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या कई बार बीस हजार के आसपास रहती है। इसके लिए गौरीकुंड से लेकर केदारनाथ धाम तक पड़ने वाले विभिन्न पड़ावों पर यात्रियों के रात्रि विश्राम की व्यवस्था है।

iimt haldwani

लेकिन इस बार भारी बर्फबारी से हट को नुकसान पहुंचा है। केदारनाथ में बर्फ साफ करने का कार्य जारी है। इसके बाद क्षतिग्रस्त हट की मरम्मत का काम शुरू किया जाएगा। गौरतलब है कि केदारनाथ धाम के कपाट नौ मई को खोले जाएंगे। ऐसे में प्रशासन के पास समय बेहद कम है। रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी अनुसार कोशिश की जा रही है कि क्षतिग्रस्त हट की जल्द से जल्द मरम्मत करा ली जाए। उनके अनुसार अभी वहां दो हजार लोग ठहर सकते हैं, लेकिन अभी यह कह पाना कठिन है कि इसके अलावा कितने और यात्रियों के लिए व्यवस्था हो पाएगी।

वर्तमान में व्यवस्था

केदारनाथ -2000
लिनचोली -500
भीमबली-200
गौरीकुंड-8000

कपाट खुलने से सात दिन पहले तैनात होगी पुलिस

चारधाम यात्र को लेकर पुलिस ने अपनी तैयारी कर दी है। पुख्ता सुरक्षा इंतजाम के लिए पुलिस ने कई बदलाव किए हैं। इस बार कपाट खुलने से एक सप्ताह पहले यानि एक मई से ही पुलिस अपने प्वाइंटों पर तैनात हो जाएगी। यात्र व्यवस्था के कुशल संचालन के लिए पुलिस ने इस बार 30 फीसद फोर्स को भी बढ़ाया है तथा 20 भूस्खलन जोन बैरियर अतिरिक्त बनाए हैं। यात्रियों की सुरक्षा के साथ उनकी सहायता करने में पुलिस महत्वपूर्ण रोल अदा करती है। इसलिए पुलिस की जिम्मेदारियां सबसे अधिक हैं। लगातार यात्र के दबाव को देखते हुए इस बार पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने व्यवस्था में कुछ बदलाव किए हैं। जिससे यात्रियों को और भी अच्छी सुविधा मिल सके। पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने बताया कि इस बार बीते वर्ष की तुलना में 30 फीसद पुलिस फोर्स बढ़ाया गया है।