inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड देहरादून- लोकसेवकों के आचरण से बनती है राज्य की पहचान, सीएम त्रिवेन्द्र...

देहरादून- लोकसेवकों के आचरण से बनती है राज्य की पहचान, सीएम त्रिवेन्द्र ने अधिकारियों को ऐसे पढ़ाया पाठ

हल्द्वानी- इस दिन से एसटीएच शुरू करने जा रहा मरीजों के लिए ये सुविधा, ऐसे पहुंचेगा लाभ

कुमाऊं के सबसे बड़े राजकीय सुशीला तिवारी अस्पताल में एक दिसंबर यानि कल से सभी प्रकार की ओपीडी शुरू हो जाएगी, अब तक सुशीला...

रुद्रपुर: किसानों के आंदोलन पर यह बड़ी बात कही पूर्व मंत्री बेहड़ ने

रुद्रपुर। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तिलक राज बेहड़ ने एक बयान में कहा कि काले कृषि कानूनों के खिलाफ देश में...

देहरादून- उत्तराखंड के हालातों पर ये बोले पूर्व सीएम हरीश रावत, अपने ही घर में इसलिए दिया धरना

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने धान के भुगतान के मसले पर राजधानी देहरादून में अपने आवास पर सांकेतिक उपवास किया। उन्होंने कोरोना के बढ़ते...

रुद्रपुर: कार की टक्कर से जख्मी को लेकर अस्पताल दर अस्पताल घूमते रहे परिजन, अंत में मचा कोहराम

रुद्रपुर। कार की टक्कर लगने से घायल बाइक सवार को परिजन अस्पताल दर अस्पताल भटकते रहे। अंतत: बाइक सवार ने दम तोड़ दिया। महानगर के...

कालाढूंगी- यहां इतनी सी बात में किसान ने उठाया से खौफनाक कदम, पलभर में यूं चूर हुई परिवार की खुशियां

देश में किसान बिल को लेकर एक ओर जहां किसानों का हल्लाबोल है। इसी बीच कालाढूंगी से एक किसान की मौत भी खबर ने...

देहरादून- मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि लोकसेवक उत्तराखण्ड के आवरण हैं। हम सभी से राज्य की पहचान होती है। कार्मिकों से उनके विभाग की पहचान भी स्थापित होती है। शासन व सरकार में शामिल लोगों के आचरण से सरकार की छवि बनती है। यदि अच्छी छवि है तो जनता के बीच सकारात्मक संदेश जाता है। बुरी छवि होने से नकारात्मक संदेश जाता है।

दरअसल आज मुख्यमंत्री ‘लोक सेवा में नैतिकता’विषय पर सचिवालय में आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में सम्बोधित कर रहे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी चाहे सामान्य आदमी हों, कर्मचारी हों या बड़े अधिकारी हों, नियम कायदे सभी के लिए एक समान हैं। अगर हम अपनी जिम्मेदारियों के प्रति न्याय करते हैं तो हम नैतिक हैं। इसके विपरीत अपनी जिम्मेदारियों से अनजान बने रहना या लापरवाह रहना अनैतिक आचरण की श्रेणी में आता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा आचरण ही हमें महान बनाता है।

Uttarakhand CM trivendra Singh rawat

अच्छी शिक्षा या उच्च पद पाने पर भी अगर हमारा व्यवहार सही नहीं है तो उच्च शिक्षा या पद का कोई औचित्य नहीं है। उन्होंने रावण का उदाहरण देते हुए कहा कि रावण बहुत ज्ञानी था, लेकिन आचरण अनैतिक था। सीएम ने कहा, प्रदेश के दूरदराज क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की हमसे बहुत अपेक्षाएं हैं। जितना ऊंचा पद होता है उतनी ही बड़ी जिम्मेदारी होती है। समाज विशेष तौर पर युवा पीढ़ी की हमसे बहुत उम्मीदें हैं। ये हम पर है कि हम इन उम्मीदों को कितना पूरा कर पाते हैं।

निर्णय लेने या समस्याओं के निस्तारण में न करें देर

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर मनुष्य का अंतिम लक्ष्य सुख प्राप्ति है और सच्चा सुख नैतिकतापूर्ण आचरण से ही सम्भव है। सचिवालय बहुत महत्वपूर्ण संस्था है। यहां लिए जाने वाले निर्णय हजारों-लाखों के जीवन पर प्रभाव डालते हैं। निर्णय लेने या फाइलों के निस्तारण में देर की प्रवृत्ति से बचना चाहिए। हमारे राज्य का भला होगा तो हमारा स्वतः ही भला होगा।

फैसला लेने में गरीबों का करें ध्यान

वहीं, अधिकारियों को संबोधित करते हुए मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने कहा कि हमें कोई भी निर्णय लेते समय सही और गलत का ज्ञान होना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि अगर निर्णय लेने में दुविधा है तो सबसे गरीब व्यक्ति का ध्यान रखते हुए यह विचार करें कि क्या हम अपने फैसले से उसके लिए कुछ अच्छा कर पा रहे हैं।

राज्य ने दिया है बहुत कुछ, अब है लौटाने की बारी

मुख्य सचिव ने कहा कि राज्य ने हमें बहुत कुछ दिया है, हमें राज्य को इससे अधिक लौटाना होगा। लक्ष्य 2020 का निर्धारण नैतिकता के आधार पर किया गया है। हमें इन लक्ष्यों की पूर्ति के लिए हर सम्भव कोशिश करनी चाहिए। अपने सामान्य जीवन में नैतिकता का पालन करते हुए अपनी टेबल से समयबद्धता के साथ फाईलों का निस्तारण करना चाहिए। लोग हम पर भरोसा करके अपनी समस्याओं को लेकर व्यक्तिगत या फोन पर सम्पर्क करते हैं। हमारा दायित्व है कि हम उनकी बात को ध्यान से सुनें और यथासम्भव राहत देने की कोशिश करें।

Related News

हल्द्वानी- इस दिन से एसटीएच शुरू करने जा रहा मरीजों के लिए ये सुविधा, ऐसे पहुंचेगा लाभ

कुमाऊं के सबसे बड़े राजकीय सुशीला तिवारी अस्पताल में एक दिसंबर यानि कल से सभी प्रकार की ओपीडी शुरू हो जाएगी, अब तक सुशीला...

रुद्रपुर: किसानों के आंदोलन पर यह बड़ी बात कही पूर्व मंत्री बेहड़ ने

रुद्रपुर। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तिलक राज बेहड़ ने एक बयान में कहा कि काले कृषि कानूनों के खिलाफ देश में...

देहरादून- उत्तराखंड के हालातों पर ये बोले पूर्व सीएम हरीश रावत, अपने ही घर में इसलिए दिया धरना

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने धान के भुगतान के मसले पर राजधानी देहरादून में अपने आवास पर सांकेतिक उपवास किया। उन्होंने कोरोना के बढ़ते...

रुद्रपुर: कार की टक्कर से जख्मी को लेकर अस्पताल दर अस्पताल घूमते रहे परिजन, अंत में मचा कोहराम

रुद्रपुर। कार की टक्कर लगने से घायल बाइक सवार को परिजन अस्पताल दर अस्पताल भटकते रहे। अंतत: बाइक सवार ने दम तोड़ दिया। महानगर के...

कालाढूंगी- यहां इतनी सी बात में किसान ने उठाया से खौफनाक कदम, पलभर में यूं चूर हुई परिवार की खुशियां

देश में किसान बिल को लेकर एक ओर जहां किसानों का हल्लाबोल है। इसी बीच कालाढूंगी से एक किसान की मौत भी खबर ने...

देहरादून- सरकार ने जारी की कोविड-19 रोकथाम के लिए नई गाइडलाईन, जाने होंगे क्या बदलाव

उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलो को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कोविड-19 की रोकथाम के लिए नई गाइडलाइन जारी कर...