iimt haldwani

देहरादून- राज्य कैबिनेट की बैठक हुई संपन्न, जानिए लिये गए महत्वपूर्ण फैसले

420

Cabinet meeting Dehradun, राज्य कैबिनेट की महत्वपूर्ण बैठक संपन्न हो चुकी है। बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसलों पर मुहर लगी। जबकि दो प्रस्ताव पुनर्विचार के लिए लौटाए गए। कैबिनेट ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के आश्रितों को आरक्षण मामले में संशोधन किया है जिसके तहत अब स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के आश्रितों में बेटियों को भी शामिल किया गया है। वहीं, सरकारी सस्ते-गल्ले की दुकान में हर माह दो किलो दाल सस्ती दरों पर लाभार्थियों को दी जाएगी।

amarpali haldwani

CM uttarakhand

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में आज कैबिनेट बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान आयोजित की गई कैबिनेट बैठक में 14 प्रस्ताव कैबिनेट के सामने विचार के लिए लाए गए, जिनमें से 12 प्रस्ताव पर कैबिनेट की मुहर लगी और दो प्रस्ताव पुनर्विचार के लिए लौटाए गए।

कैबिनेट मंत्री और शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि कैबिनेट ने फैसला लिया है कि शासन स्तर पर चिकित्सा शिक्षा और चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग के एकीकरण किया जाएगा। वही बैठक में राज्य के निगमो में रोस्टर प्रणाली को लेकर भी चर्चा हुई। इस दौरान परिवाहन मंत्री यशपाल आर्य की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया।

कैबिनेट के फैसले

-राजकीय महाविद्यालयों में गेस्ट फैकल्टी को हर महीने 35 हजार रुपये वेतन दिया जाएगा।

-आरक्षण अधिनियम 1993 के तहत स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की पुत्रियों को भी अब आरक्षण के दायरे में लिया गया है।

-मुख्यमंत्री दाल पोषित योजना के तहत सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान में दो किलो दाल प्रति माह सस्ती दरों पर मिलेगी।

-सचिवालय स्तर पर अब स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग का एकीकरण किया गया।

-सूचना प्रौद्योगिकी और विज्ञान प्रौद्योगिकी विभाग का सचिवालय के स्तर पर एक एकीकरण किया गया है।

-आयुर्वेद विश्व विद्यालय के पूर्व कुल सचिव मृत्युंजय मिश्रा को उनकी मूल उच्च शिक्षा में भेजा गया।

-शासन स्तर में विकास योजनाओं के परीक्षण के लिए प्रमुख सचिव को जिम्मा, पहले सीएस करते थे।

-उच्च न्यायालय के रिटायर्ड जजों के लिए चिकित्सा प्रति पूर्ति के मामले में सुप्रीमकोर्ट के आदेश का अनुपालन करने का फैसला।

-उच्च शिक्षा विभाग में संविदा शिक्षकों के मानदेय में इज़ाफ़ा 35 हज़ार मानदेय और 40 प्रति माह तय।

-मुख्यमंत्री दाल पोषित योजना का शुभारम्भ।

-30 लाख 80 हज़ार राशन कार्ड धारकों को दो किलोग्राम अतिरिक्त दाल देने का फ़ैसला।