iimt haldwani

देहरादून-शहीद मेजर चित्रेश का पार्थिव शरीर पहुंचा देहरादून, सात मार्च को होनी थी शादी

635

देहरादून-न्यूज टुडे नेटवर्क-पुलवामा में बड़े हमले के बाद जम्मू-कश्मीर के राजौरी में एलओसी के पास एक बड़ा विस्फोट होने से देरादून के रहने वाले मेजर चित्रेश बिष्ट शहीद हो गये। जम्मू कश्मीर के राजौरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास अचानक विस्फोट हो गया। आज शहीद मेजर चित्रेश बिष्ट का पार्थिव शरीर जम्मू से सेना के विशेष विमान से देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचा। यहां से सेना के हेलीकॉप्टर से पार्थिव शरीर को देहरादून लाया गया। पार्थिव शरीर सैनिक सम्मान के साथ मिलि‍ट्री हॉस्पिटल देहरादून लाया गया।

drishti haldwani

यह भी पढ़ें-नई दिल्ली- केन्द्र सरकार ने अलगाववादियों से छीनी सुरक्षा, पुलवामा हमले के बाद उठाएं से सख्त कदम

मूलरूप से रानीखेत के रहने वाले है चित्रेश

पार्थिव शरीर को सैनिक और राजकीय सम्मान के साथ लाया शहीद के घर लाया जाएगा। गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में तैनात मेजर चित्रेश बिष्ट राजौरी के नौशेरा सेक्टर में एलओसी के पास जांच के लिए जा रहे थे। इस दौरान वहां लगाए गए आइईडी को डिफ्यूज करते वक्त विस्फोट हो गयाए जिसमें वो शहीद हो गए। वही मूलरूप से अल्मोड़ा जिले के रानीखेत के पिपली निवासी है। वर्तामान में उनका परिवार देहरादून के नेहरू कॉलोनी में रहता है। उनके पिता एसएस बिष्ट रिटायर्ड पुलिस इंस्पेक्टर हैं। चित्रेश की सात मार्च को शादी होनी थी, इसके लिए कार्ड भी छप चुके थे।