Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तराखंड देहरादून- पर्वतीय क्षेत्रों में गर्भावस्था बनती जा रही चुनौती, पहाड़ की रीढ़...

देहरादून- पर्वतीय क्षेत्रों में गर्भावस्था बनती जा रही चुनौती, पहाड़ की रीढ़ ऐसे हो रही कमज़ोर

हल्द्वानी ।आम्रपाली ने छात्र हित में लिए कई फैसले, जानिए क्या मिली हैं सुविधाएं

हल्द्वानी । आम्रपाली ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूटस के सीईओ0 डा0 संजय ढींगरा ने बताया कि कोविड संकट और केन्द्र की नई शिक्षा नीति को देखते...

उत्तराखंड- अब इस मीटर के जरिये बिजली का बिल आयेगा बेहद कम, जानिये ऊर्जा निगम की ये योजना

ऊर्जा निगम ने एक नई योजना जारी की गई है, जो बिजली उपभोक्ताओं के लिये बेहद फायदेमंद है। अगर आप भी अनपे घर में...

हल्द्वानी- कोरोना को हराकर घर लौटी नेता प्रतिपक्ष, जनता के लिए दिया ये खास संदेश

उत्तराखंड की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की बीते दिनों कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। लगातार जन सेवा करते हुए वह कोरोना संक्रमित हो गईं...

हल्द्वानी- प्रीति ने शुरू किया इकोनॉमिक्स की ई-कोचिंग का अनोखा कांसेप्ट, कई राज्यों के छात्र ले रहे शिक्षा

कोरोना वायरस के चलते लगे लॉकडाउन के लंबे समय बाद अब अनलॉक में बाजार खुल जरूर रहे हैं। लेकिन डर का साया अभी भी...

हल्द्वानी- यहां बना उत्तराखंड का पहला स्क्वैश कोर्ट, जाने क्या है खासियत

उत्तराखंड में खेल के क्षेत्र में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। क्रिकेट, हॉकी, वॉलीबॉल, बैडमिंटन, कराटे जैसा खेल काफी लोकप्रिय है। वही अब...
Uttarakhand Government

उत्तराखंड की महिलाओं को पहाड़ की रीढ़ कहा गया है। ऐसे में महिला स्वास्थ्य का महत्व और बढ़ जाता है। लेकिन, उत्तराखंड के दुरूह क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं लचर होने से छोटी-छोटी बीमारी में भी महिलाओं को सैकड़ों किलोमीटर का चक्कर काटना पड़ता है। महिलाओं के स्वास्थ्य को लेकर यहां सरकारें कितनी गंभीर रही हैं, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि राज्य गठन के दो दशक पूरे होने वाले हैं और अब भी पहाड़ों पर गर्भवतियों को डोली में बिठाकर अस्पताल पहुंचाना पड़ता है। इन हालात में कभी प्रसव सड़क किनारे हो जाता है तो कभी अस्तपाल के गेट पर।


Uttarakhand Government

पर्वतीय क्षेत्रों में गर्भावस्था एक चुनौती

हर साल 28 मई को अंतरराष्ट्रीय महिला स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। एक महिला अपने जीवन में कई अलग-अलग अनुभवों से गुजरती है। जिसमें गर्भावस्था एक अलग तरह का अनुभव है। नौ माह की इस अवधि में उसके स्वास्थ्य में भी तमाम उतार-चढ़ाव आते हैं। जिसमें काफी देखभाल की जरूरत होती है। लेकिन, हकीकत यह है कि सुरक्षित प्रसव का दावा करने वाली सरकारें अब भी प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में उस अनुरूप इंतजाम नहीं कर पाई हैं। एक तो पहाड़ की विषम भौगोलिक स्थिति और उस पर स्वास्थ्य सुविधाओं का टोटा। दूरस्थ पर्वतीय क्षेत्रों में गर्भावस्था खुद में एक चुनौती है।

Uttarakhand Government

uttarakhand todaynews

Uttarakhand Government

नेशनल हेल्थ मिशन (एनएचएम) के प्रभारी अधिकारी डॉ. कुलदीप मर्तोलिया का कहना है कि हाल में इस ओर कई कदम उठाए गए हैं। जिनमें मैचरल केयर सेंटरों को सुदृढ़ करने, एनीमिया मुक्त भारत कार्यक्रम, डिजिटल हीमोग्लोबिनोमीटर से हीमोग्लोबिन की जांच का प्रावधान, सुमन कार्यक्रम के तहत सम्मानजनक देखभाल आदि शामिल है। इसी का नतीजा है कि मातृ मत्यु दर में 112 अंकों की गिरावट आई है। इसके अलावा शिशु मृत्यु दर में भी छह अंकों की गिरावट दर्ज की गई है। सैंपल रजिस्ट्रेशन प्रणाली के सर्वे के अनुसार नवंबर 2019 में मातृ मृत्यु दर 201 प्रति लाख से घटकर 89 प्रति लाख पर आ गई है।

Uttarakhand Government

Related News

हल्द्वानी ।आम्रपाली ने छात्र हित में लिए कई फैसले, जानिए क्या मिली हैं सुविधाएं

हल्द्वानी । आम्रपाली ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूटस के सीईओ0 डा0 संजय ढींगरा ने बताया कि कोविड संकट और केन्द्र की नई शिक्षा नीति को देखते...

उत्तराखंड- अब इस मीटर के जरिये बिजली का बिल आयेगा बेहद कम, जानिये ऊर्जा निगम की ये योजना

ऊर्जा निगम ने एक नई योजना जारी की गई है, जो बिजली उपभोक्ताओं के लिये बेहद फायदेमंद है। अगर आप भी अनपे घर में...

हल्द्वानी- कोरोना को हराकर घर लौटी नेता प्रतिपक्ष, जनता के लिए दिया ये खास संदेश

उत्तराखंड की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की बीते दिनों कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। लगातार जन सेवा करते हुए वह कोरोना संक्रमित हो गईं...

हल्द्वानी- प्रीति ने शुरू किया इकोनॉमिक्स की ई-कोचिंग का अनोखा कांसेप्ट, कई राज्यों के छात्र ले रहे शिक्षा

कोरोना वायरस के चलते लगे लॉकडाउन के लंबे समय बाद अब अनलॉक में बाजार खुल जरूर रहे हैं। लेकिन डर का साया अभी भी...

हल्द्वानी- यहां बना उत्तराखंड का पहला स्क्वैश कोर्ट, जाने क्या है खासियत

उत्तराखंड में खेल के क्षेत्र में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। क्रिकेट, हॉकी, वॉलीबॉल, बैडमिंटन, कराटे जैसा खेल काफी लोकप्रिय है। वही अब...

देखिए -इन पुलिसकर्मी को किया गया सम्मानित

संवाददाता-अनुराग शुक्ला स्थान-नानकमत्ता आज नानकमत्ता थानाध्यक्ष कमलेश भट्ट एवं एसआई जगत सिंह भंडारी को एंटी करप्शन क्राइम कंट्रोल फोर्स ऊधम सिंह नगर के द्वारा सम्मानित किया...
Uttarakhand Government