drishti haldwani

देहरादून- वित्तमंत्री प्रकाश पन्त का निधन, ये लोग थे अंतिम क्षणों में साथ, पढ़िए उनके जीवन के अनछुए पहलू

2868

देहरादून- वित्तमंत्री प्रकाश पंत का आज निधन हो गया। अमेरिका में इलाज के दौरान निधन हुआ। बताया जा रहा है कि लंबे समय से बीमार चल रहे थे। पन्त राज्य सरकार में वित्तसंसदीय पेयजल एवम स्वछता- आबकारी- विधायी- भाषा – गन्ना विकास एवम चीनी उद्योग मंत्रालय में काबीना मंत्री थे। मंत्री प्रकाश पंत की मौत के अंतिम क्षणों में उनकी पत्नी, बेटा, बेटी साथ थी।

iimt haldwani

पढ़िये प्रकाश पंत का जीवन सफर

प्रकाश पंत (जन्म 11 नवंबर 1960 पिथौरागढ़, उत्तराखण्ड, भारत है)
♦जीवन परिचय♦
नाम प्रकाश पन्त
पिता का नाम श्री मोहन चन्द्र पन्त
माता का नाम श्रीमती कमला पन्त
पत्नी का नाम श्रीमती चन्द्रा पन्त
जन्म तिथि 11.11.1960
स्थाई पता ग्राम खड़कोट, पो.ऑ. पिथौरागढ़, जनपद पिथौरागढ़
शिक्षा स्नातक, डिप्लोमा इन फ़ार्मेसी
सामाजिक यात्रा 1984 सरकारी सेवा में स्वच्छन्द रूप से समाज सेवा न कर पाने के कारण पद से त्यागपत्र दिया और भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।
आदर्श पंडित दीन दयाल उपाध्याय
अभिरूचि साहित्य :
एक आवाज़ ( काव्य संग्रह)
प्रराब्द ( काव्य संग्रह)
एक थी कुसुम ( कहानी )
आदि कैलाश यात्रा ( यात्रा वृतांत )
मैं काली नदी
खेल
राष्ट्रीय निशानेबाजी में रजत पदक (जी०बी मावलंकर शूटिंग प्रतियोगिता कोयम्बटूर वर्ष 2004)
राज्य स्तरीय निशानेबाजी प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक वर्ष (2004)
भ्रमण चीन, जापान, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, ब्राजील, इंग्लैंड, मलेशिया, दुबई, मोरिसस
आत्मकथन नर सेवा, नारायण सेवा
लक्ष्य अंतिम व्यक्ति के जीवन में सुधार लाना

प्रकाश पंत के निधन पर प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने शोक व्यक्त किया , प्रदेश भाजपा के कार्यक्रम तीन दिन स्थगित

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने उत्तराखंड के वित्त व संसदीय कार्यमंत्री प्रकाश पंत के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है और कहा है कि उनके निधन से अपूर्णनीय क्षति हुई है । उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में भाजपा के सभी कार्यक्रम श्री पंत के निधन के शोक में तीन दिन तक स्थगित रहेंगे।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने प्रदेश के वित्त व संसदीय कार्यमंत्री प्रकाश पंत के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि पंत जैसे व्यक्तित्व के हमारे बीच न रहने से प्रदेश व भाजपा को भारी क्षति हुई है । उन्होंने एक मंत्री व विधायक के रूप में व भाजपा नेता के रूप में जो योगदान दिया वह हमेशा याद रखा जाएगा। उनके न रहने से जो रिक्तता पैदा हुई है उसे भरा नहीं जा सकेगा।
भट्ट ने कहा कि पंत व उनके तीन दशक से पुराने सम्बंध थे और ये सम्बंध राजनीतिक न हो कर वैयक्तिक थे। उनके निधन से मुझे व्यक्तिगत क्षति पहुँची है और इसकी पूर्ति सम्भव नहीं होगी।
भट्ट ने कहा कि पंत के निधन के शोक में प्रदेश में भाजपा के सभी कार्यक्रम तीन दिन तक स्थगित रहेंगे.