देहरादून-पंचायत चुनाव से जुड़ी बड़ी खबर, शैक्षिक योग्यता और दो बच्चों के निर्धारण के बाद अब चुनाव लडऩा भी हुआ महंगा

Slider

देहरादून-सभी राजनीतिक दल पंचायत चुनाव की तैयारी में जुट गये है। यहां तक कई दावेदारों ने 15 अगस्त और रक्षाबंधन की शुभकामनाएं लोगों को देते हुए अपनी दावेदारी भी ठोंक डाली। हाल ही में पंचायत चुनाव लडऩे के लिए पंचायतीराज एक्ट में किए गए दो बच्चों के प्रावधान और शैक्षिक योग्यता का निर्धारण किया था। इससे पिछले पांच सालों से चुनाव लडऩे का ख्याब देखने वालों की नींद उड़ गई। अब उम्मीदवारों के नामांकन पत्र के मूल्य और जमानत राशि में भी बढ़ोतरी कर दी गई है। पिछले चुनाव के मुकाबले इनमें तीन गुना की वृद्धि की गई है।

panchayat Chunav-2019
बताया जा रहा है कि ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य व जिला पंचायत सदस्य पदों पर चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों के चुनाव व्यय की अधिकतम सीमा में दोगुना इजाफा किया गया है। राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को पत्र भेज दिया गया है।

Slider

ये दरें तत्काल प्रभाव से प्रभावी होंगी। नामांकन पत्रों का मूल्य ग्राम पंचायत सदस्य के लिए सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए नामांकन पत्र का मूल्य 150 और आरक्षित (एससी-एसटी) ओबीसी व महिला प्रत्याशियों के लिए 75 रुपये तय किया गया है। इसी तरह अन्य पदों की धनराशि में भी इजाफा हुआ है।

उपप्रधान – 210 व 105
ग्राम प्रधान – 300 व 150,
क्षेत्र पंचायत सदस्य – 300 व 150,
जिला पंचायत सदस्य – 450 व 225,
कनिष्ठ व ज्येष्ठ उपप्रमुख-450 व 225
क्षेत्र पंचायत प्रमुख -600 व 300,
उपाध्यक्ष जिला पंचायत – 750 व 375
अध्यक्ष जिला पंचायत पद पर सामान्य उम्मीदवार के लिए 1500 और आरक्षित (एससी-एसटी,ओबीसी व महिला) प्रत्याशियों के लिए 750 रुपये की दर तय की गई है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें