देहरादून- पर्यटकों को लुभाने के लिए अब सरकार उठाने जा रही ये कदम, शुरु हुआ इस नई योजना में काम

Slider

उत्तराखंड सरकार पर्यटकों को लुभाने के लिए हर मुमकिन प्रयास करती नज़र आ रही है। फिर चाहे वो प्राकृतिक खूबसूरती को निखारने की बात हो या पर्यटक के लिहाज से नये विकल्प तलाशने की। इसी क्रम में अब कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के कालागढ़ टाइगर डिविजन के पाखरो पर्यटन जोन को विकसित करने की कवायद चल रही है। रामगंगा नदी की तर्ज पर पाखरो में एक झील तैयार की जाएगी, जिसमें पर्यटक आगामी समय में बोटिंग का लुत्फ भी उठा सकेंगे। सीटीआर के अधिकारी इस योजना पर काम में जुट गए हैं।

kalagad tiger reserve jheel project

Slider

जानकारी मुताबिक 21 जुलाई को कॉर्बेट फांउडेशन की बैठक कोटद्वार में हुई। बैठक में वन मंत्री हरक सिंह रावत की ओर से पाखरो पर्यटन जोन को विकसित करने पर जोर दिया गया है। बताया कि जिस तरह कालागढ़ से ढिकाला तक रामगंगा नदी को झील का रूप दिया, उसी तर्ज पर पाखरो में भी झील बनाने की योजना है। पाखरो में छोटी-बड़ी नदियों के पानी को एकत्र कर झील तैयार की जा रही है। इस झील में आगामी समय में पर्यटक बोटिंग भी करेंगे। पाखरो को आकर्षक पर्यटक स्थल बनाने की कवायद चल रही है ताकि कॉर्बेट में पाखरो जोन भी पर्यटकों को लुभा सकें।

kalagad tiger reserve jheel project

ऐसे तैयार होगी झील

कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के निदेशक राहुल ने बताया कि पाखरो पर्यटन जोन में सोना नदी स्रोत, जसोद, पाखरो, धौलखंड, चपड़ा, सुआ नदी-नालों के पानी को एकत्र कर झील तैयार की जाएगी है। पाखरो को पर्यटक स्थल बनाने के पीछे सरकार की स्थानीय युवाओं को रोजगार देने की मंशा भी है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें