inspace haldwani
Home उत्तराखंड देहरादून- अब शहर में इकट्ठा नही होगा प्रदूषित कूड़ा, सरकार यहां बनायेगी...

देहरादून- अब शहर में इकट्ठा नही होगा प्रदूषित कूड़ा, सरकार यहां बनायेगी प्लांट

रुद्रपुर: एवज़ी में पिता की ड्यूटी करने गया था जवान बेटा, लौटा तो कफ़न में लिपट कर, हर आंख हो गई नम

रुद्रपुर । पिता परिवहन विभाग मुरादाबाद में थे, उन्हें चोट लगी तो जवान बेटा एवज़ी में पिता की ड्यूटी करने चला गया, लेकिन जब...

रुद्रपुर: जिला पंचायत बोर्ड की बैठक 31को, सांसद अजय भट्ट करेंगे शिरकत

रुद्रपुर । सांसद अजय भट्ट 31 अक्तूबर को जिला पंचायत बोर्ड की बैठक में प्रतिभाग करेंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष रेनू गंगवार ने बोर्ड की बैठक...

दिनेशपुर: बीएड फाइनल की छात्रा को फांसी पर लटका देखा तो परिजनों की निकली चीख

दिनेशपुर। थाना क्षेत्र के ग्राम चक्की मोड़ निवासी एक युवती ने फांसी लगा ली, जिससे उसकी मौत हो गई । युवती बीएड की छात्रा थी...

रुद्रपुर: बेदाग छवि के त्रिवेंद्र सिंह रावत हर अग्नि परीक्षा में उतारेंगे खरे: शिव अरोरा

रुद्रपुर। भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत पर भ्रष्टाचार के आरोप बेबुनियाद और झूठे हैं। जिलाध्यक्ष शिव अरोरा बृहस्पतिवार को पत्रकारों...

बागेश्वर- यहां खेत में चोरी छिपे हो रहा था ऐसा काम, पहुंची पुलिस तो खुल गया राज

उत्तराखंड के कुछ जिलों में वड़े पैमाने पर भांग की खेती जाती है, ऐसे में कुछ लोग सरकार से विशेष अनुमति लेकर खेती करते...

शहर के कूड़े को दूर करने के लिए सरकार अब सरकार एक बड़ा कदम उठा रही है। दरअसल सरकार देहरादून में शहर के कूड़े को दूर करने के लिये एक प्लांट बना रही है। इसके लिये नगर निगम शहर में प्लांट लगाने की पूरी तैयारी कर रहा है। नगर निगम ने इसे मंजूरी के लिए शासन को भेज दिया है। बताया जा रहा है, सरकार कूड़े को दूर करने के लिये अन्य शहरों में भी जल्द प्लांट बनायेगी।

देहरादून में अन्य जिलों के मुकाबले कचरा अधिक होने के कारण सबसे पहले प्लांट वही बनाया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक देहरादून में बड़े पैमाने पर अस्पतालों का चिकित्सीय कचरा सड़क पर ही डंप किया जाता है, इनमें करीबन 45 अस्पताल तो शहरी क्षेत्र में हैं। इसके अलावा छोटे.बड़े ऐसे दर्जनों नर्सिंग होम और क्लीनिक हैं, जो अपने कचरे को नगर निगम के कूड़ेदानों में ही डंप कर रहे हैं। इससे बचने के लिए निगम की बोर्ड बैठक में बायो मेडिकल वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट लगाने का प्रस्ताव मंजूर किया गया।

इस प्लांट को अस्पतालों से निकलने वाले कचरे के लिए वहां जैव चिकित्सा अपशिष्ट निस्तारण केंद्र बनाया गया जायेगा। जिसका जिम्मा मेडिकल पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी को सौंपा गया है। आपको बता दें कि एक रिपोर्ट के अनुसार शहर के अस्पतालों में रोजाना 3000 हजार किलो मेडिकल वेस्ट होता है। यह सभी गंदा कूड़ा ज्यादातर सरकारी अस्पतालों का है। यह कूड़ा वातावरण में जहर घोल रहा है। जिस कारण सरकार अब प्लांट बनाने की योजना बना रही है।

 

Related News

रुद्रपुर: एवज़ी में पिता की ड्यूटी करने गया था जवान बेटा, लौटा तो कफ़न में लिपट कर, हर आंख हो गई नम

रुद्रपुर । पिता परिवहन विभाग मुरादाबाद में थे, उन्हें चोट लगी तो जवान बेटा एवज़ी में पिता की ड्यूटी करने चला गया, लेकिन जब...

रुद्रपुर: जिला पंचायत बोर्ड की बैठक 31को, सांसद अजय भट्ट करेंगे शिरकत

रुद्रपुर । सांसद अजय भट्ट 31 अक्तूबर को जिला पंचायत बोर्ड की बैठक में प्रतिभाग करेंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष रेनू गंगवार ने बोर्ड की बैठक...

दिनेशपुर: बीएड फाइनल की छात्रा को फांसी पर लटका देखा तो परिजनों की निकली चीख

दिनेशपुर। थाना क्षेत्र के ग्राम चक्की मोड़ निवासी एक युवती ने फांसी लगा ली, जिससे उसकी मौत हो गई । युवती बीएड की छात्रा थी...

रुद्रपुर: बेदाग छवि के त्रिवेंद्र सिंह रावत हर अग्नि परीक्षा में उतारेंगे खरे: शिव अरोरा

रुद्रपुर। भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत पर भ्रष्टाचार के आरोप बेबुनियाद और झूठे हैं। जिलाध्यक्ष शिव अरोरा बृहस्पतिवार को पत्रकारों...

बागेश्वर- यहां खेत में चोरी छिपे हो रहा था ऐसा काम, पहुंची पुलिस तो खुल गया राज

उत्तराखंड के कुछ जिलों में वड़े पैमाने पर भांग की खेती जाती है, ऐसे में कुछ लोग सरकार से विशेष अनुमति लेकर खेती करते...

केलाखेड़ा: इस कारण खुले आसमान के नीचे पड़ा है किसानों का सैकड़ों कुंतल धान

केलाखेड़ा। नगर समीपवर्ती ग्राम रामनगर में किसान सहकारी समिति के तौल केंद्र पर धान की खरीद बंद है, जिससे किसान और पल्लेदार परेशान हो...