iimt haldwani

देहरादून- घर पर लाइसेंसी बंदूक रखना इस परिवार को ऐसे पड़ा भारी, खेल-खेल हुआ ये दर्दनाक हादसा

235

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में एक बेहद ही सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। यहां परिजनों द्वारा घर में रखी गई लाइसेंसी पिस्टल ही 6 साल की मासूम की मौत का कारण बन गई। जानकारी मुताबिक खेल खेल में मासूम बच्चों से लाइसेंसी पिस्टल से चली गोली ने छह साल की बच्ची की जान ले ली। मामले में पुलिस ने पिस्टल के मालिक और मृतक के चाचा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही पिस्टल, चार जिंदा कारतूस और एक खोखा जब्त कर लिया है। इस घटना के बाद से घर में कोहराम मचा हुआ है।

amarpali haldwani

चोर पुलिस का खेल पड़ा भारी

पुलिस जानकारी मुताबिक घर में लापरवाही से रखी लाइसेंसी पिस्टल छह साल की बच्ची की मौत का कारण बन गई। पटेलनगर पुलिस के अनुसार, कारगी स्थित मुस्लिम बस्ती में हार्डवेयर व्यापारी साजिद का घर है। यहां साजिद अपने भाई-बहनों के साथ संयुक्त परिवार में रहता है। यहां बच्चे घर में खेल रहे थे। तभी बेड की ड्राअर में रखे पर्स में लाइसेंसी पिस्टल बच्चों के हाथ लग गई। बच्चे चोर-पुलिस का खेल खेलने लगे। इसी दौरान साजिद के बेटे और उसमान की बेटी के हाथों से खेल-खेल में पिस्टल का ट्रिगर दब गया। इससे गोली जाकिया पुत्री सरमद की कनपट्टी को छूते हुए निकल गई।

दिल्ली में इलाज के दौरान हुई मौत

लहूलुहान हाल में परिजन जाकिया को श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने गंभीर हालत बताते हुए उसे दिल्ली रेफर कर दिया। पटेलनगर इंस्पेक्टर द्वारा दी गई जानकारी मुताबिक दिल्ली में इलाज के दौरान जाकिया की मौत हो गई। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। इस मामले में लाइसेंसी पिस्टल के मालिक साजिद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि मृत जाकिया साजिद के भाई की बेटी थी।

सस्पेंड होगा लाइसेंस

वही पूरी घटना के बाद पुलिस ने साजिद के पिस्टल के लाइसेंस को सस्पेंड करने की तैयारी कर ली है। इसके लिए जिलाधिकारी को संस्तुति भेजी जा रही है। पुलिस मुताबिक फिलहाल लाइसेंस और पिस्टल को कब्जे में ले लिया है। लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई जारी है। एसएसपी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि लाइसेंसी हथियारों का दुरुपयोग गलत है। मासूम बच्ची की मौत का मामला संज्ञान में आते ही मुकदमे के निर्देश दिए गए। लाइसेंस सस्पेंड किया जा रहा है।