देहरादून-हरदा ने ऐसे मांगा देवभूमि की बेटी के लिए इंसाफ, सिस्टम पर कसा तंज

Slider

देहरादून-पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत हरीश रावत ने उत्तराखंड की बेटी स्वाति ध्यानी को इंसाफ दिलाने के लिए शनिवार को अस्पताल के सामने मोमबत्ती जलाई। आज प्रदेश भर में जगह-जगह बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर कांग्रेस ने जगह-जगह विरोध जताया। इस दौरान पूर्व सीएम हरीश रावत ने समर्थकों के साथ कोरोनेशन अस्पताल पहुंचकर स्वाति को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सिस्टम पर भी तंज कसा।

Harda

Slider

गौरतलब है कि रिखणीखाल (पौड़ी) के वयेला तल्ला गांव निवासी स्वाति ध्यानी पत्नी राजेंद्र ध्यानी को प्रसव पीड़ा होने पर विगत 28 जून रात 12 बजे के आसपास रिखणीखाल स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। अगले दिन दोपहर एक बजे के करीब स्वाति ध्यानी को डिलीवरी के लिए लेबर रूम में ले जाया गया, जहां तीन बजे के लगभग डिलीवरी हुई। इस दौरान स्वाति ध्यानी ने मृत बच्चे को जन्म दिया। अस्पताल के चिकित्सकों ने स्वाति की कंडीशन को नॉर्मल बताते रहे। पांच बजे के आसपास डाक्टरों ने स्वाति को हायर सेंटर रेफर कर दिया। समय पर उपचार ने मिलने से प्रसूता स्वाति ध्यानी की मौत हो गई थी। उसे इंसाफ दिलाने को लेकर पौड़ी गढ़वाल में जनांदोलन शुरू हो गया है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें