inspace haldwani
inspace haldwani
Home Career देहरादून- प्रदेश में शिक्षकों के 12 हजार पदों को भरने के लिए...

देहरादून- प्रदेश में शिक्षकों के 12 हजार पदों को भरने के लिए सरकार कर रही ये काम, आप भी उठायें फायदा

हल्द्वानी- इस दिन से एसटीएच शुरू करने जा रहा मरीजों के लिए ये सुविधा, ऐसे पहुंचेगा लाभ

कुमाऊं के सबसे बड़े राजकीय सुशीला तिवारी अस्पताल में एक दिसंबर यानि कल से सभी प्रकार की ओपीडी शुरू हो जाएगी, अब तक सुशीला...

रुद्रपुर: किसानों के आंदोलन पर यह बड़ी बात कही पूर्व मंत्री बेहड़ ने

रुद्रपुर। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तिलक राज बेहड़ ने एक बयान में कहा कि काले कृषि कानूनों के खिलाफ देश में...

देहरादून- उत्तराखंड के हालातों पर ये बोले पूर्व सीएम हरीश रावत, अपने ही घर में इसलिए दिया धरना

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने धान के भुगतान के मसले पर राजधानी देहरादून में अपने आवास पर सांकेतिक उपवास किया। उन्होंने कोरोना के बढ़ते...

रुद्रपुर: कार की टक्कर से जख्मी को लेकर अस्पताल दर अस्पताल घूमते रहे परिजन, अंत में मचा कोहराम

रुद्रपुर। कार की टक्कर लगने से घायल बाइक सवार को परिजन अस्पताल दर अस्पताल भटकते रहे। अंतत: बाइक सवार ने दम तोड़ दिया। महानगर के...

कालाढूंगी- यहां इतनी सी बात में किसान ने उठाया से खौफनाक कदम, पलभर में यूं चूर हुई परिवार की खुशियां

देश में किसान बिल को लेकर एक ओर जहां किसानों का हल्लाबोल है। इसी बीच कालाढूंगी से एक किसान की मौत भी खबर ने...

प्रदेश में खाली पड़े 12 हजार शिक्षक पदों को भरने के लिए सरकार 40 हजार प्रशिक्षित बेरोजगारों की पुनह टीईटी की परीक्षा कराने जा रही है। शिक्षक बनने की ताक लगायें बैठे हजारों बीएड प्रशिक्षित को एक बार फिर ये परीक्षा उत्तरीर्ण करनी होगी, जिसके बाद उनके शिक्षक बनने की राह आसान हो जाएगी। पहले परीक्षा दें चुके बीएड प्रशिक्षितों के मुताबिक अधिकतर प्रशिक्षितों की टीईटी की वैधता अवधि समाप्त हो चुकी है या फिर समाप्त होने की कगार पर है।

12 हजार पद है खाली

वही उत्तराखंड बीएड प्रशिक्षित बेरोजगार संगठन के प्रदेश महासचिव बलवीर बिष्ट के मुताबिक प्रदेश में 40 हजार बीएड प्रशिक्षित हैं। जिसमें कुछ ने 2011 और 2013 में अध्यापक पात्रता परीक्षा प्रथम और द्वितीय श्रेणी में पास की थी। एनसीईआरटी की ओर से इसके प्रमाण पत्र की वैधता सात वर्ष रखी गई थी। ऐसे में वर्ष 2011 में टीईटी पास करने वालों के प्रमाण पत्र की वैधता अवधि पूरी हो चुकी है।

uttarakhand education news

जबकि 2013 में टीईटी पास करने वाले बेरोजगार की वैधता अवधि भी खत्म होने की कगार पर है। उन्होंने कहा कि जिन बेरोजगारों की शिक्षक बनने की आयु सीमा अभी है। उन्हें फिर से टीईटी करना होगा। प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र तोमर के मुताबिक प्रदेश में शिक्षकों के करीब 12 हजार खाली पदों पर समय से भर्ती न होने से यह स्थिति बनी है।

Related News

हल्द्वानी- इस दिन से एसटीएच शुरू करने जा रहा मरीजों के लिए ये सुविधा, ऐसे पहुंचेगा लाभ

कुमाऊं के सबसे बड़े राजकीय सुशीला तिवारी अस्पताल में एक दिसंबर यानि कल से सभी प्रकार की ओपीडी शुरू हो जाएगी, अब तक सुशीला...

रुद्रपुर: किसानों के आंदोलन पर यह बड़ी बात कही पूर्व मंत्री बेहड़ ने

रुद्रपुर। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तिलक राज बेहड़ ने एक बयान में कहा कि काले कृषि कानूनों के खिलाफ देश में...

देहरादून- उत्तराखंड के हालातों पर ये बोले पूर्व सीएम हरीश रावत, अपने ही घर में इसलिए दिया धरना

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने धान के भुगतान के मसले पर राजधानी देहरादून में अपने आवास पर सांकेतिक उपवास किया। उन्होंने कोरोना के बढ़ते...

रुद्रपुर: कार की टक्कर से जख्मी को लेकर अस्पताल दर अस्पताल घूमते रहे परिजन, अंत में मचा कोहराम

रुद्रपुर। कार की टक्कर लगने से घायल बाइक सवार को परिजन अस्पताल दर अस्पताल भटकते रहे। अंतत: बाइक सवार ने दम तोड़ दिया। महानगर के...

कालाढूंगी- यहां इतनी सी बात में किसान ने उठाया से खौफनाक कदम, पलभर में यूं चूर हुई परिवार की खुशियां

देश में किसान बिल को लेकर एक ओर जहां किसानों का हल्लाबोल है। इसी बीच कालाढूंगी से एक किसान की मौत भी खबर ने...

देहरादून- सरकार ने जारी की कोविड-19 रोकथाम के लिए नई गाइडलाईन, जाने होंगे क्या बदलाव

उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलो को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कोविड-19 की रोकथाम के लिए नई गाइडलाइन जारी कर...