inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड देहरादून-शासन ने प्रदेश के 52 चिकित्सकों की सेवा की समाप्त, जानिये क्या...

देहरादून-शासन ने प्रदेश के 52 चिकित्सकों की सेवा की समाप्त, जानिये क्या है पूरा मामला

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

पिथौरागढ़- भारत से पेंशन लेकर लौट रहे 5 नेपाली पेंशनरों को मिली दर्दनाक मौत, ऐसे हुआ पूरा हादसा

भारत से पेंशन लेकर जा रहे नेपाली पेंशनरों की एक जीप नेपाल में झूलाघाट से करीब सात किमी दूर सड़क से पलटकर डेढ़ सौ...

उत्तराखंड- सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने षडयंत्रकारियों को ऐसे किया चारों खाने चित, पैने चार साल की रही बेमिसाल परफार्मेंस

बीते तकरीबन पौने चार साल की परफार्मेंस से उत्तराखंड में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी कार्यशैली से सरकार और संगठन के अलावा केंद्र...

देहरादून- उत्तराखंड में कोरोना का आकड़ा बढ़कर पहुंचा इतना , आज 11 लोगों ने गवाईं जान

उत्तराखंड में आज 528 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में आंकड़ा बढ़कर 72160 हो गया है। जबकि 11 लोगों की...

लालकुआं- डीएम सविन बंसल ने इस अधिकारी को किया निलंबित, जाने क्या रही इस एक्शन की बड़ी वजह

कानूनगो रजिस्ट्रार के पद पर पदोन्नति के बाद की गई तैनाती स्थल पर योगदान ना करने उच्च अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना करने तथा...

देहरादून-लंबे समय से प्रदेश भर की अस्पतालों से गायब चल रहे चिकित्सकों की सेवा ने समाप्त कर दी है। प्रदेश में करीब 52 चिकित्सकों के त्यागपत्र मंजूर करते हुए उनकी सेवाएं समाप्त कर दी है। इनके स्थान पर अब नए चिकित्सकों की भर्ती की जाएगी। शासन ने चिकित्सकों के त्यागपत्र स्वीकार करते हुए इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। सचिव स्वास्थ्य नितेश कुमार झा की ओर से जारी आदेश के अनुसार 11 जिलों में गैरहाजिर 52 डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त की गईं हैं। बता दें कि वर्ष 2003, 2004, 2012 और 2016 में इन डॉक्टरों को नियुक्ति दी गई थी।

Uttarakhand Docoter Govt.

लंबे समय से चल रहे थे गैरहाजिर

नियुक्ति के बाद से ये सभी डाक्टर गैरहाजिर चल रहे हैं। इसमें कुछ डॉक्टर अपना क्लीनिक चला रहे हैं। वहीं, कुछ निजी अस्पतालों में सेवाएं दे रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से नोटिस देने के बाद चिकित्सक वापस नहीं लौटे। हाल ही में शासन ने स्वास्थ्य महानिदेशक से गैरहाजिर डॉक्टरों की रिपोर्ट मांगी थी। जिस पर कार्रवाई करते हुए शासन ने 52 डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त कर दी हैं। इससे पहले भी 35 डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त की गई थीं। सचिव स्वास्थ्य नितेश कुमार झा ने कहा कि 52 चिकित्सक सेवाएं देने के लिए नहीं थे।

नैनीताल में सात चिकित्सक थे गैरहाजिर

आज ऊधमसिंह नगर जिले से तीन, अल्मोड़ा से पांच, उत्तरकाशी से तीन, पिथौरागढ़ से छह, रुद्रप्रयाग से छह, देहरादून से पांच, चंपावत से पांच, हरिद्वार से पांच, नैनीताल से सात, पौड़ी से पांच और बागेश्वर से दो डॉक्टरों की सेवाओं को समाप्त किया गया। सरकार के प्रयासों के बाद भी चिकित्सक अपने नियुक्ति स्थान से ड्यूटी से गायब हो रहे हैं।

Related News

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

पिथौरागढ़- भारत से पेंशन लेकर लौट रहे 5 नेपाली पेंशनरों को मिली दर्दनाक मौत, ऐसे हुआ पूरा हादसा

भारत से पेंशन लेकर जा रहे नेपाली पेंशनरों की एक जीप नेपाल में झूलाघाट से करीब सात किमी दूर सड़क से पलटकर डेढ़ सौ...

उत्तराखंड- सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने षडयंत्रकारियों को ऐसे किया चारों खाने चित, पैने चार साल की रही बेमिसाल परफार्मेंस

बीते तकरीबन पौने चार साल की परफार्मेंस से उत्तराखंड में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी कार्यशैली से सरकार और संगठन के अलावा केंद्र...

देहरादून- उत्तराखंड में कोरोना का आकड़ा बढ़कर पहुंचा इतना , आज 11 लोगों ने गवाईं जान

उत्तराखंड में आज 528 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में आंकड़ा बढ़कर 72160 हो गया है। जबकि 11 लोगों की...

लालकुआं- डीएम सविन बंसल ने इस अधिकारी को किया निलंबित, जाने क्या रही इस एक्शन की बड़ी वजह

कानूनगो रजिस्ट्रार के पद पर पदोन्नति के बाद की गई तैनाती स्थल पर योगदान ना करने उच्च अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना करने तथा...

उत्तराखंड- जाने कैसी है पद्मश्री डॉ. अनिल प्रकाश जोशी के संघर्ष की कहानी, रह चुके है ‘मैन ऑफ द ईयर’

अनिल प्रकाश जोशी एक भारतीय हरित कार्यकर्ता, सामाजिक कार्यकर्ता, वनस्पति विज्ञानी और हिमालयी पर्यावरण अध्ययन और संरक्षण संगठन HESCO के संस्थापक हैं। 6 अप्रैल...