inspace haldwani
Home उत्तराखंड गढ़वाल देहरादून-ऐेसे ही नहीं मिला सीएम त्रिवेन्द्र को ताज, विकास से लिखी गौरवगाथा

देहरादून-ऐेसे ही नहीं मिला सीएम त्रिवेन्द्र को ताज, विकास से लिखी गौरवगाथा

देहरादून- बीस साल के हो चुके उत्तराखंड प्रदेश ने तमाम उतार-चढ़ाव झेलते हुए भले ही विकास के कई पायदान चढ़े हों, लेकिन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के कार्यकाल में सूबे को जो पहचान अखिल भारतीय स्तर पर मिली है। वह पूरे प्रदेश की जनता को गौरान्वित करने वाली है। जनहित के प्रयास बेहतर और उत्कृष्ट रहे तो देवभूमि के मस्तक पर उपलब्धियों के ताज सजते गए। यही उपलब्धियां सीएम त्रिवेंद्र को देवभूमि के जन जन का प्रिय बनाती हैं। बात उन सम्मानों की हो रही जो उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के कुशल नेतृत्व में प्रदेश को उसके उत्कृष्ट कामों के बूते हासिल हुए हैं। किसानों का मसला गरम है तो पहले खेती की ही बात की जाए।

प्रदेश को खाद्यान्न उत्पादन में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए लगातार दूसरी बार कृषि कर्मण प्रशंसा पुरस्कार से नवाजा गया है। यानी कृषि सुधारों के मामले में त्रिवेंद्र सरकार पहले से सही संजीदा रही। गन्ना किसानों के लंबित देयकों का भुगतान कर भी त्रिवेंद्र ने साफ कर दिया है कि जय जवान जय किसान जैसे नारे के उनके लिए क्या मायने हैं। उचित प्रबंधन और नियोजन की बात करें तो नीति आयोग ने जो भारत नवाचार सूचकांक 2019 जारी किया है, उसमें उत्तराखंड सर्वश्रेष्ठ तीन राज्यों में शामिल है। यानी त्रिवेंद्र के कुशल प्रबंधन पर अखिल भारतीय स्तर पर भी मुहर पक्की लगी है।

वहीं स्वच्छ भारत मिशन की बात करें, तो इसमें बेहतर प्रदर्शन के लिए कई तमगे प्रदेश के सीने पर सजे हैं। उत्तराखंड में गांव-गांव और शहर-शहर स्वच्छ भारत अभियान की जोत जलाई गई। गांवों से लेकर शहरों तक आम लोगों ने इस अभियान सहभाग किया। नतीजा यह हुआ है कि स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए उत्तराखंड को एक नहीं दो नहीं पूरे सात पुरस्कार हासिल हुए।

आज जिसे समाज की बड़ी उपलब्धियों में गिना जाता है नि:संदेह ही वह बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान है। मानव समाज यह अत्यंत सुखद पहलू है, जिस पर देर से सही लेकिन काम हो रहा है। यहां भी सूबे के मुखिया सीएम त्रिवेंद्र की पीठ थपथपाई जानी चाहिए। क्योंकि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान में प्रदेश के ऊधमसिंह नगर जिले को देश के सर्वश्रेष्ठ 10 जिलों में चुना गया। और अन्य जनपदों की स्थिति भी अन्य प्रांतों से कहीं बेहतर है। किसी प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का सामथ्र्य वहां के मातृत्व मृत्यु दर के आंकड़े पर भी काफी हद तक निर्भर करता है। इसमें देवभूमि के हर वासिंदे को अपने मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत का शुक्रिया अदा करते हुए इस उपलब्धि पर गौरान्वित होना चाहिए कि मातृत्व मृत्यु दर में सर्वाधिक कमी के लिए देश में भी देवभूमि अव्वल रही और इसके लिए देवभूमि राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत भी हुई। बेस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट का तमगा भी त्रिवेंद्र के राज में ही सूबे को मिला।

जाहिर सी बात है कि जिन क्षेत्रों में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के नेतृत्व में चल रहे उत्तराखंड को अखिल भारतीय स्तर पर पुरस्कृत किया गया है उन कार्यों पर कोई चाहते हुए भी सवाल नहीं उठा सकता। सीएम त्रिवेंद्र की यह वो सफलताएं हैं जिनका डंका पूरे देश में बजा है। देवभूमि के मस्तक पर सजे यह तो निश्चित रूप से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को जन नेता तो बनाते ही हैं राष्ट्रीय स्तर पर भी उन्होंने प्रदेश को अलग पहचान दिलाई है।

 

 

 

 

Related News

देहरादून- उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने जारी किया अपर निजी सचिव 2017 का रिजल्ट, सौरभ खत्री बने टॉपर

देहरादून-आज उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने अपर निजी सचिव 2017 का रिजल्ट घोषित किया। जिसमें 42 अभ्यार्थी पास हुए है। 8 अक्टूबर 2020 से...

देहरादून-टीम इंडिया में खेलेगा देवभूमि का एक और लाल, इंग्लैंड दौरे के लिए हुआ चयन

देहरादून-भारत में क्रिकेट सबसे बड़ा खेल है। इस खेल में एक से बढक़र एक खिलाड़ी आ रहे है। विगत सालों से उत्तराखंड मूल के...

2021 में नहीं बदल रहे जेईई और नीट के कोर्स, सवालों के जवाब देने को स्‍टूडेंट्स को ये मिले विकल्प

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। जेईई और नीट के कोर्स 2021 में चेंज नहीं होंगे। आईआईटी में दाखिले एडमीशन के लिए संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा (जेईई) चिकित्‍सा...

देहरादून-अचानक सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत पहुंचे गढ़वाल कमिश्नर के कार्यालय, स्टाफ में मचा हडक़ंप

देहरादून-मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आज पूरे एक्शन में दिखे। आज अचानक सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत गढ़वाल कमिश्नर के कार्यालय पहुंच गये। उनके साथ मुख्य...

देहरादून-कोर्ट जाने की तैयारी में एनआइओएस डीएलएड , पढिय़े क्या है पूरा मामला

देहरादून-विगत दिवस प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने एनआइओएस से डीएलएड पास अभ्यर्थियों को बेसिक स्कूलों में होने जा रही भर्ती से बाहर...

देहरादून-यहां अपर जिलाधिकारी को पद से हटाया, सामने आयी बड़ी वजह

देहरादून-उत्तराखंड शासन ने राज्य सिविल सेवा के अधिकारी अरविंद कुमार पांडेय को देहरादून के अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) के पद से हटा दिया है। उन्हें...