PMS Group Venture haldwani

देहरादून-कोरोना वायरस से खिलाफ सरकार के समर्थन में उतरा आरएसएस, देशवासियों से कही ये बात

वर्तमान में पूरा विश्व कोविन-19 कोराना संक्रामक रोग से ग्रसित है। पिछले साल दिसम्बर माह में चीन के बुहान शहर से यह रोग संक्रमित हुआ। चीन को अपनी चपेट में लेने के बाद वर्तमान में इटली, स्पेन, फ्रांस, ब्रिटेन जैसे यूरोपियन देश इसकी चपेट में आ गये हैं। इटली में प्रतिदिन सैकड़ों लोग इस रोग के कारण जान गंवा रहे हैं। इटली में मृतकों की संख्या चीन से कई गुना बढ़ गई है। जापान, हांगकांग, मलेशिया तथा ईरान जैसे मुस्लिम देश भी इसकी चपेट में हैं। अमेरिका जैसा शक्तिशाली देश कोरोना संक्रमण से पीडि़त है तथा भयभीत है। जापान, दक्षिण कोरिया, मलेशिया, थाईलैण्ड भी इसकी चपेट में हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना संक्रमण को महामारी घोषित कर दिया है ।

RSS

यह जानकारी देते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रान्त कार्यवाह दिनेश सेमवाल ने बताया कि भारत में भी धीरे -धीरे कोरोना का संक्रमण फैल रहा है। प्रारम्भ में चीन, इटली, ईरान आदि देशों से आने वाले यात्रियों में से कुछ इस रोग से ग्रसित पाये गये। केन्द्र सरकार तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रोग की गंभीरता को भांपते हुए पहले से ही इसकी रोकथाम के प्रयास शुरू कर दिये थे। केन्द्र सरकार तथा राज्य सरकारें कोरोना को भारत में महामारी बनने से रोकने के लिये रात दिन कार्य कर रहे हैं। अनेक उपाय किये जा रहे हैं। इस रोग का टीका अभी दुनियां के किसी भी देश में नहीं बन पाया है। इसलिये अगर इसने महामारी का रूप ले लिया तो इससे बचना कठिन हो जायेगा। जैसा चीन, इटली, ईरान आदि देशों में हो रहा है। इसलिये देश के प्रधानमंत्री प्रारम्भ से ही देशवासियों को सजग व जाग्रत कर रहे हैं। सावधानी और संयम से ही इस भयानक कोरोना रोग से बचाव हो सकता है।

Dinesh semwal

कोरोना जैसी गंभीर आसन्न महामारी के संकट से बचाव में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ देश के साथ, देश के प्रधानमंत्री के साथ खड़ा है। संघ ने अपनी प्रतिनिधि सभा की बंगलूरू में होने वाली बैठक स्थगित कर केन्द्र तथा राज्य सरकारों द्वारा किये जा रहे प्रयत्नों में सहयोग करने का निर्णय लिया है। संघ के 95 वर्ष के इतिहास में यह पहली बार हुआ कि संगठन सर्वोच्च नीति निर्धारक समिति प्रतिनिधि सभा की बैठक स्थगित की गई तथा तय किया गया कि संघ देश भर के अपने स्वयंसेवकों व कार्यकर्ताओं का आह्वान कोरोना संक्रमण से बचाव के कार्य करने के लिये करेगा। अत: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अपनी शाखाओं के माध्यम से मोहल्लों तथा शाखा क्षेत्र में कोरोना के प्रति जनजागरण करेगा तथा 22 मार्च को प्रात: 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक प्रधानमंत्री के आह्वान पर होने वाले जनता कफ्यूं में सहयोग करेगा। उत्तराखण्ड के सभी स्वयंसेवकों एवं कार्यकर्ताओं तथा आमजनों से से अनुरोध है कि वे 22 मार्च के जनता कफ्र्यू को सफल बनाने के लिये जनजागरण कर तथा अपने क्षेत्र को इस रोग को फैलने से रोकने में सहयोग करें ।

 

Coronavirus vaccine) वैज्ञानिकों ने ढूँढ निकाला कोरोना का सबसे सस्ता इलाज, 100 रुपए में ऐसे होगा कोरोना की जाँच