inspace haldwani
Home उत्तराखंड देहरादून- एक्शन में सीएम त्रिवेन्द्र, अब ऐसे रखेंगे मुख्यमंत्री घोषणाओं के कार्यों...

देहरादून- एक्शन में सीएम त्रिवेन्द्र, अब ऐसे रखेंगे मुख्यमंत्री घोषणाओं के कार्यों पर नज़र

पूर्व की सरकारों की तरह अब सूबे में मुख्यमंत्री की घोषणाओं पर किसी तरह की हीला हवाली नहीं हो पाएगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने साफ एलान किया है कि अब वह हर माह स्वयं ही घोषणाओं की प्रगति समीक्षा करेंगे। आज वर्चुवली उन्होंने यह कार्य शुरू भी कर दिया है। इसमें सभी सत्तर विधान सभाओं के कार्यों को समयबद्धता और गुणवत्ता की कसौटी पर कसा जायेगा। मुखिया ने गंभीरता दिखाई तो काम में तेजी के लिए अब जिला स्तर पर भी अमला हरकत में आ गया है।

जनता को मिलेगा लाभ

गौरतलब है कि आने वाले 18 मार्च को प्रदेश सरकार वर्तमान कार्यकाल के चार साल पूरे करने जा रही है। विकास योजनाओं को धरातल पर उतारने के शासन स्तर से प्रयास किए जा रहे हैं। यहां की सत्तर विधान सभाओं में मुख्यमंत्री की घोषणाओं की तादाद भी सैकड़ों में है। पिछली सरकारों की बात करें तो तब इस तरह के भी कई उदाहरण हैं कि

जन दबाव के चलते मुख्यमंत्री घोषणाएं तो कर देते रहे, लेकिन उसके बाद उन कार्यों को अंजाम तक नहीं पहुंचाया जा सका। सीएम की घोषणाओं में आए अवरोधों के पीछे कहीं वन अधिनियम की दिक्कतें सामने आई तो कईयों में सिस्टम की लापरवाही को जिम्मेदार माना गया। कारण चाहे जो भी रहा हो, लेकिन जनता को उसका लाभ नहीं मिल पाया। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

योजनाओं पर करना होगा फूर्ती से काम

हाल ही मेें मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जो एलान किया है उससे साफ है कि अब विकास योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए सिस्टम को और फुर्ती से काम करना होगा। किसी भी लापरवाही के लिए सीएम त्रिवेंद्र कुछ भी सुनने के मूड में नहीं हैं। मुख्यमंत्री अब हर माह स्वीकृत विकास योजनाओं की स्वयं समीक्षा करेंगे। सूबे के विकास के मामले में सीएम त्रिवेंद्र ने दलीय राजनीति को दरकिनार कर यह सकारात्मक कदम उठाया है।

नई व्यवस्था से सभी जनपदों के जिलाधिकारी भी एलर्ट हो गए हैं। जिन घोषणाओं में लेट लतीफी हो रही थी उसके जिम्मेदार अधिकारियों को जिला स्तर पर गुणवत्ता व समयबद्धता के लिए जिला स्तर पर ही निर्देश हो गए हैं। आज मुख्यमंत्री जी ने सचिवालय में पिथौरागढ़, बागेश्वर एवं चंपावत जिलों में अपनी घोषणाओं की समीक्षा के साथ ही इस कार्यक्रम की शुरूआत कर दी है। ऐसे में तय है कि सीएम त्रिवेेंद्र की इस नीति से प्रदेश के विकास के और बेहतर परिणाम सामने आएंगे।

Related News

रुद्रपुर- किसान सम्मान योजना में बढ़ा प्रदेश का नाम,देखिये महिला डीएम की कृषक ट्रिक

रुद्रपुर। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की अध्यक्षता में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की दूसरी वर्षगांठ पर सम्मान समारोह दिल्ली में आयोजित हुआ।...

नानकमत्ता गुरुद्वारे पहुंचे सीएम त्रिवेंद्र रावत, विधायकों संग टेका मत्था

राजीव कुमार सक्सेना। नानकमत्ता। गुरुद्वारा श्री नानकमत्ता साहिब पहुंचे प्रदेश के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दरबार साहिब में माथा टेक प्रसाद ग्रहण किया। उनको...

ऋषिकेश में एक साथ मिली लखीमपुर से गायब हुई 4 लड़कियां

उत्तराखंड पुलिस ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी से रहस्यमई ढंग से लापता हुईं चार छात्राओ को ऋषिकेश के मुनीकीरेती क्षेत्र से बरामद कर...

यहां ATM में कैश डालने गए दो लोग लाखों रुपये लेकर हुए फरार, पुलिस तलाश में जुटी

काशीपुर में एटीएम में डालने के लिए दी गई लाखो की रकम को कैस एटीएम में डालने वाले कंपनी के दो कस्टोडियन एजेंट ने...

नैनीताल -गर्जिया मंदिर में आयी दरारों की जांच और कार्ययोजना को लेकर जिलाधिकारी ने उठाया यह कदम

रामनगर से 14 किमी की दूरी पर स्थापित ऐतिहासिक मां गर्जिया देवी मन्दिर जो कि पहाडी पर स्थापित है उसमे आयी दरार के बेहतर...

हरिद्वार कुंभ मेले की तैयारियों से हाईकोर्ट नाखुश , मांगे इन सवालों के जवाब

नैनीताल हाईकोर्ट में सोमवार को कुंभ मेले की तैयारियों को लेकर दायर जनहित याचिकाओं पर सुनवाई हुई। इस दौरान कोर्ट ने तीन मार्च तक...