देहरादून-चारधाम देवस्थानम बोर्ड की पहली बैठक ऐतिहासिक -सीएम, अब ऐसे रखी जायेंगी पांडुलिपि और मूर्तियां

देहरादून-आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि चारधाम देवस्थानम बोर्ड की पहली बैठक ऐतिहासिक रही। उन्होंने कहा कि पहली बैठक में बोर्ड ने विचार किया कि कोविड-19 के कारण जो परिथितियां उत्पन्न हुई है। चारधाम यात्रा को सुचारू करने पर विचार किया गया कि कैसे हम इस यात्रा को सुचारू कर सकते है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बोर्ड के लिए 10 करोड़ रूपये का प्रविधान किया गया है। सीएम ने कहा कि कई मंदिर समितियों ने देवस्थानम बोर्ड से जुडऩे की इच्छा जाहिर की है। इसलिए यह भी निर्णय लिया गया कि कुछ और मंदिरों को भी भविष्य में इसमें जोड़ा जा सकता है।

trivendra-singh-rawat-news
सीएम त्रिवेन्द्र ने कहा कि जो हमारा पुरोहित समाज है उनके बारे में विचार किया गया। हक-हबूकधारियों के बारे में निर्णय लिया गया। उनकी अगर कोई समस्या है। तमाम हक-हबूकधारियों की बात सुनीं जा सकें। इसके लिए ट्रिब्यून का गठन किया जायेगा। आज बैठक में जो हमारी पांडुलिपियां और मूर्तियां है। उन्हें एक संग्राहलय में रखा जायेगा। ताकि कोई उनके बारे में लिखना चाहे या अध्ययन करना चाहे तो वह आसानी से कर सकता है। आज की बैठक को सीएम ने ऐतिहासिक बैठक करार दिया।

Slider

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें